नई दिल्ली: नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) ने लोकसभा में कहा कि कोरोना वायरस वेरिएंट ओमिक्रोन (Omicron) निश्चित रूप से अंतर्राष्ट्रीय यात्रा (International Traveling) को फिर से शुरू करने के लिए एक झटका है. प्रश्नकाल के दौरान एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा, “‘ओमिक्रोन निश्चित रूप से एक झटका है. इसलिए, कई देशों ने इससे निपटने के लिए अलग-अलग मापदंड रखे हैं. हमारे देश ने 11 देशों को जोखिम वाले देशों के रूप में वर्गीकृत किया है. यूके, दक्षिण अफ्रीका, ब्राजील, बोत्सवाना, चीन, जिम्बाब्वे, मॉरीशस, न्यूजीलैंड, हांगकांग, सिंगापुर और इजराइल जोखिम वाले देशों की सूची में है.”Also Read - MP Corona Update: इंदौर एयरपोर्ट पर 15 यात्री मिले संक्रमित, दुबई की उड़ान में सवार होने से रोका गया

कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी के एक अन्य प्रश्न के उत्तर में उन्होंने कहा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन और अंतर्राष्ट्रीय हवाई परिवहन संघ को संयुक्त रूप से हवाई यात्रा के लिए एक सामान्य प्रोटोकॉल तैयार करना चाहिए. उन्होंने कहा, “वर्तमान में हमारा 31 देशों के साथ एयर बबल समझौता है और 10 अन्य देशों के साथ एयर बबल समझौता शुरू करने का प्रस्ताव है.” उन्होंने यह भी बताया कि सरकार ने नए मानदंड लागू कर दिए हैं और अब इन देशों से आने वाले यात्रियों को हवाई अड्डे पर आरटी-पीसीआर टेस्ट के लिए जाना होगा और सात दिनों के लिए होम क्वारंटीन अनिवार्य होगा. Also Read - Omicron: त्वचा पर 21 घंटे तक जिंदा रहता है कोरोना का ओमीक्रोन वेरिएंट, हैंड हाइजीन सबसे जरूरी

आठवें दिन, यात्री फिर से आरटी-पीसीआर टेस्ट के लिए जाएगा और एक नेगेटिव रिपोर्ट के बाद ही उसे स्वतंत्र रूप से आगे बढ़ने की अनुमति दी जाएगी. सिंधिया ने यह भी कहा, “हमने देश में उन हवाई अड्डों की पहचान की है जहां इन 11 देशों के यात्री आएंगे और उनके टेस्ट की पर्याप्त व्यवस्था करेंगे.” उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि कोविड टीकों की दोनों खुराक वाला व्यक्ति भी ओमिक्रोन से संक्रमित हो सकता है, इसलिए, वैक्सीन की दोहरी खुराक वाले व्यक्तियों को हवाई अड्डों पर आरटी-पीसीआर परीक्षण से छूट नहीं दी जा सकती है. Also Read - कांग्रेस नेता Digvijaya Singh कोरोना वायरस से संक्रमित, खुद ट्वीट कर दी जानकारी