कोच्चि/चेन्नई. तमिल सिनेमा के महान कलाकार और भारतीय सिने जगत की दिग्गज हस्ती कमल हासन (Kamal Haasan) ने फिल्मों की दुनिया को छोड़ने का संकेत दिया है. महज कुछ ही महीने पहले राजनीति में कदम रखने वाले कमल हासन फिल्म छोड़ने की जो वजह बताई है, वह भी अनोखी है. अभिनेता कमल हासन ने एक ‘प्रभावी’ राजनेता बनने के लिए अपना फिल्मी कैरियर छोड़ने का संकेत दिया है. मक्कल सुधी माईम (एमएनएम) के संस्थापक ने संकेत दिया कि 1996 में आई उनकी ब्लॉकबस्टर फिल्म ‘इंडियन’ का सीक्वल ‘इंडियन2’ संभवत: उनकी आखिरी फिल्म होगी. हालांकि आपको यह भी बता दें कि 6 साल की उम्र में सिनेमा में कदम रखने वाले कमल हासन ने इस साल की शुरुआत में भी फिल्में छोड़ने का संकेत दिया था. तब से संभवतः यह तीसरी बार है जब इस अभिनेता ने सिनेमा से संन्यास लेने की बात कही है.

64 वर्षीय अभिनेता-राजनेता ने सोमवार को कोच्चि के पास किजाक्कमंबलम में संवाददाताओं से कहा कि एक राजनेता के रूप में प्रभावी होने और पूरा समय देने (राजनीति को) के लिए अब मैं दूर (फिल्म से) होऊंगा.
हालांकि, उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र में उनकी निर्माण कंपनी लगातार काम करती रहेगी. कोई और इसका संचालन करेगा. उनके करीबी सूत्रों ने चेन्नई में बताया कि ‘इंडियन 2’ के अलावा हासन ‘शाबाश नायडू’ और एक अन्य अनाम फिल्म में भी नजर आएंगे. ‘शाबाश नायडू’ का निर्देशन उन्होंने खुद किया है. इसके बाद वह किसी और फिल्म में काम नहीं कर सकते हैं.

फिल्मों में एक्टर, डांसर, निर्माता-निर्देशक, लेखक, गायक और गीतकार, कमल हासन की पूरी जिंदगी फिल्मों के नाम समर्पित रही है. 200 से ज्यादा फिल्मों में काम कर चुके कमल हासन ने तमिल, तेलुगू, कन्नड़, मलयालम और हिन्दी फिल्मों में अपनी अभिनय क्षमता की बदौलत बड़ा मुकाम हासिल किया है. वर्ष 1954 में जन्म के सिर्फ 6 साल बाद ही उन्होंने फिल्मों में कदम रख दिया था. वर्ष 1960 में रिलीज हुई उनकी पहली फिल्म ‘कलातूर कन्नम्मा’ थी. इसके बाद से अभी तक वे फिल्म इंडस्ट्री में सक्रिय हैं. जहां तक हिन्दी फिल्मों की बात है, कमल हासन ने ‘एक दूजे के लिए’ से हिन्दी फिल्मों का सफर शुरू किया था. तमिल भाषा में बनी उनकी कई फिल्में हिन्दी में भी रिलीज की गईं, जो अभिनय की दृष्टि से सफल साबित हुई.

(इनपुट – एजेंसी)