मुंबई: कंगना रनौत और शिवसेना के बीच जुबानी जंग अब नया मोड़ ले चुकी है. केंद्र सरकार द्वारा जहां कंगना की सुरक्षा के मद्देनजर Y श्रेणी की सुरक्षा दी गई. वहीं आज बीएमसी द्वारा उनके घर को ढहाने की कोशिश की गई. इस बीच बॉम्बे हाइकोर्ट में सुनवाई के दौरान कोर्ट ने कंगना के दफ्तर को तोड़े जाने को लेकर स्टे लगा दिया है. वहीं कंगना की सुरक्षा के मद्देनजर छत्रपति शिवाजी एयरपोर्ट पर भारी सुरक्षाबल की तैनाती की गई है. यहां कंगना के समर्थक और उनके विरोधी दोनों नारेबाजी करते दिखे और कंगना एयरपोर्ट से चली गईं. Also Read - Kangana Ranaut vs BMC: कंगना का BMC पर पलटवार, एक्ट्रेस ने बीएमसी को महाराष्ट्र सरकार का 'पालतू' कहा

बता दें कि अभिनेत्री कंगना रनौत ने मुंबई स्थित उनके बंगले में ‘अवैध निर्माण’ संबंधी मुंबई नगर निकाय (BMC) के नोटिस को चुनौती के लिए बंबई उच्च न्यायालय (Bombay High Court) का दरवाजा खटखटाया था और ढहाए जाने की प्रक्रिया पर रोक लगाए जाने का अनुरोध किया था. कोर्ट ने कंगना के दफ्तर पर तोड़फोड़ पर रोक लगा दी है और बीएमसी से जवाब मांगा है. Also Read - कंगना रनौत को जुर्माने की रकम नहीं देना चाहती BMC, बंबई हाईकोर्ट में दी यह दलील...

इसे लेकर कंगना रनौत ने ट्वीट कर कहा था कि मेरे घर में कोई अवैध निर्माण नहीं है. सरकार ने भी 30 सितंबर तक कोविड संकट में तोड़फोड़ पर प्रतिबंध लगाया रखा है. बॉलीवुड अब इसे देखो फासीवाद कुछ ऐसा दिखता है.बता दें कि मुंबई की तुलना PoK से करने वाले बयान पर जारी विवाद के बीच कंगना रनौत को Y+ श्रेणी की सुरक्षा में आज मुंबई आ रही हैं. शिवसेना से तकरार और संजय राउत से जुबानी जंग के बीच कंगना रनौत हिमाचल प्रदेश के मंडी स्थित अपने घर से मुंबई के लिए रवाना हो चुकी हैं.