JNU छात्र अध्यक्ष कन्हैया कुमार को अपने सभा में भारी विरोध करना पड़ा। दरअसल, हंगामा तब हो गया जब श्रीकृष्ण मेमोरियल हॉल में आयोजित सभा में एक युवक ने अपने हाथो में एक काला झंडा लेकर घुस गया। अंदर आने के बाद युवक ने जोर जोर से भारत माता की जय के नारे लगाए और कन्हैया कुमार को काला झंडा दिखाया। युवक के ऐसा करने पर कन्हैया कुमार के समर्थकों ने युवक को मारा जिसके बाद पुलिस ने इस मामले में दो हिरासत में ले लिया। आपको बता दें की यह मामला तब हुआ जब कन्हैया कुमार ने अपना भाषण देना शुरू ही किया था।Also Read - देशभर में छठ पर्व की धूम: बिहार, दिल्‍ली, यूपी समेत देश के कई राज्‍यों में डूबते सूरज को दिया गया अर्घ्य

Also Read - Bihar से लालू यादव पत्‍नी और बेटे के साथ दिल्‍ली पहुंचे, बोले- मेरी तबीयत ठीक नहीं है

कन्हैया कुमार के इस कार्यकर्म में जिस युवक ने काल झंडा दिखने के साथ साथ भारत माता की जय के नारे लगाए उसे बहुत साडी गंभीर चोटें आई हैं। वहीं जीन छात्रों को चोट आई है वह खुद को किसी भी पार्टी या संगठन के साथ मिले होने की बात से मना कर रहें हैं। आपको बतादें की विरोध करने वाले छात्र पटना यूनिवर्सिटी के हैं। छात्रों का कहना है की वह इस तरह का विरोध प्रदर्शन नहीं करते अगर कन्हैया देश के बारे में गलत बातें कहना शुरू नहीं करता। यह भी पढ़ें: मेरा गला घोंटने की कोशिश की गई: कन्हैया Also Read - Gandhi Maidan Blast case: NIA कोर्ट ने 10 में से 9 आरोपियों को दोषी करार दिया, 1 बरी; सजा पर फैसला नवंबर में

इस कार्यकर्म में कन्हैया के समर्थकों ने छात्रों को बहुत ही बूरी तरह मारा है। वहीँ घायल छात्रों के समर्थन में सामने आएं हैं बीजेपी नेता शाहनवाज हुसैन जिनका कहना है की बिहार सरकार मुकदर्शक बनकर बैठी है। उन्होंने कहा की देश के खिलाफ बोलने वालों के साथ सरकार खड़ी दिख रही है। इस बात की उन्होंने निंदा की। वहीं बीजेपी विधायक नितिन नवीन ने नीतीश सरकार पर निशाना साधते हुए कहा है की देश के विरोध नारे लगने वालो और सैनिकों का अपमान करने वाले कन्हैया के लिए बिहार सरकार ने ‘रेड कार्पेट’ बिछाकर वीवीआईपी सुरक्षा मुहैया करा रही है। उन्होंने कहा की इस तरह की बिहार सरकार की हरकत से पूरा बिहार शर्मसार हुआ है।