नई दिल्ली: करगिल विजय दिवस के 20 साल पूरे होने पर आज देशभर में उन वीर सैनिकों को याद किया गया जिन्होंने देश की रक्षा के लिए सर्वोच्च बलिदान देते हुए अपने प्राणों की आहुति दे दी. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी इस मौके पर शहीदों को श्रद्धांजलि दी. कोविंद ने ट्विटर पर लिखा, ”का‍रगिल विजय दिवस पर, प्रत्येक भारतीय हमारी सशस्त्र सेनाओं के प्रयासों और पराक्रम की सराहना करता है. सभी देशवासी कारगिल के शहीदों के परम बलिदान को नमन करते हैं, हम उनके परिवार-जनों के प्रति सदैव ऋणी रहेंगे.”

पीएम मोदी ने भी इस मौके पर देश के लिए अपनी जान देने वाले अमर जवानों को याद किया. पीएम मोदी ने ट्वीट कर लिखा, ”आज कारगिल विजय दिवस पर देश उन वीरों को नमन करता है जिन्होंने देश के लिए अपने प्राण दे दिए. हमारे सैनिकों ने अपनी जान की परवाह न करते हुए ये सुनिश्चित किया था कि कोई भी हमारे वतन में शांति के माहौल को खराब न कर पाए.”

सशस्त्र सेना के जवानों और उनके परिवारों ने भी करगिल के द्रास सेक्टर में द्रास वॉर मेमोरियल पर शहीद सैनिको को श्रद्धांजलि दी. इस दौरान सेना ने उस दौरान शहीद हुए सैनिकों के परिवारों को भी बुलाया था.

1999 में हुए करगिल युद्ध को भारतीय सेना के इतिहास में एक टर्निंग प्वाइंट माना जाता है. ये एक ऐसा युद्ध था जिसे दुनिया में सबसे ऊंचाई पर किया गया युद्ध माना जाता है. ये युद्ध इस मायने में भी खास था कि इस दौरान पहली बार भारत और पाकिस्तान में किसी युद्ध का प्रसारण टीवी पर किया गया था.