नई दिल्ली: कांग्रेस ने अयोग्य घोषित किए गए विधायकों को कर्नाटक विधानसभा उपचुनाव में टिकट देने को लेकर भाजपा पर बृहस्पतिवार को निशाना साधते हुए कहा कि इससे पार्टी की ‘‘सत्ता की भूख तथा सिद्धांतहीन एवं अवसरवादी” चेहरा उजागर हो गया है.

कांग्रेस महासचिव (संगठन) के सी वेणुगोपाल ने एक बयान में कहा कि भाजपा ने अयोग्य ठहराए गए सभी विधायकों को टिकट देकर वही किया जिसका हम अनुमान लगा रहे थे. कर्नाटक की जनता मतदान के जरिए भाजपा के इस रवैये का करारा जवाब देगी. उन्होंने कहा कि कांग्रेस और जद(एस) के अयोग्य ठहराए गए विधायकों को टिकट देने के भाजपा के फैसले से साबित होता है कि उसने कर्नाटक में ‘‘भारी धनराशि और पदों’’ का वादा करके दलबदलुओं की ‘‘खरीद-फरोख्त’’ की.

वेणुगोपाल ने कहा कि भाजपा राजनीतिक नैतिकता और सही-गलत के बारे में बोलने के सभी नैतिक अधिकार खो चुकी है. कांग्रेस-जदएस के अयोग्य ठहराए गए 17 में से 16 विधायक गुरूवार को बेंगलुरू में भाजपा में शामिल हो गए. इनमें से 13 अयोग्य ठहराए गए विधायकों को पांच दिसम्बर को होने वाले उपचुनाव में उतारा गया है.