नई दिल्ली. लोकसभा चुनाव के लिए आचार संहित लग गया है. ऐसे में सभी पार्टियां प्रत्याशी उतारने की तैयारी में लग गई हैं. इस बीच कर्नाटक में बीजेपी के नेता केएस इश्वरूपा ने पूर्व प्रधानमंत्री और जेडीएस नेता देवे गौड़ा को लेकर विवादित बयान दिया है. उन्होंने कहा, अगर देवे गौड़ा के 28 बेटा होते तो वह 28 क्षेत्रों से एक-एक बेटे को कैंडिडेट बना देते. बता दें कि कर्नाटक में लोकसभा की 28 सीट है.

बता दें कि ये विवाद तब शुरू हुआ जब कर्नाटक के सीएम एचडी कुमारस्वामी ने अपने एक्टर बेटे निखिल कुमारस्वामी को मांड्य सीट से चुनाव लड़ाने के संकेत दिए. इसके बाद से बीजेपी लगातार कुमारस्वामी और कांग्रेस पर वंशवाद का आरोप लगा रही है. उनका कहना है कि एक ही परिवार के सभी लोग राज्य में राजनीति कर रहे हैं.

कुमारस्वामी ने दिया जवाब
इस बीच कुमारस्वामी ने मांड्या संसदीय सीट से अपने अभिनेता बेटे निखिल कुमारस्वामी के चुनाव लड़ने का विरोध करने वाले आलोचकों पर निशाना साधते हुए मंगलवार को कहा कि उनके बेटे की उम्मीदवारी के खिलाफ सुनियोजित अभियान चलाया जा रहा है. अपने बेटे का प्रचार करने के लिए आलोचनाओं का सामना कर रहे कुमारस्वामी ने कहा कि जो लोग सोशल मीडिया पर पोस्ट कर रहे हैं वे मतदाता नहीं हैं. असली मतदाता गांवों में है और वे ही फैसला लेंगे.

सुनियोजित अभियान
उन्होंने दावा किया कि निखिल की उम्मीदवारी के खिलाफ सुनियोजित अभियान चल रहा है. उन्होंने कहा कि येद्दियुरप्पा और उनके समेत कई शीर्ष नेता कहीं और जन्मे जबकि उनकी राजनीतिक गतिविधियां कहीं और रही हैं. कुमारस्वामी ने निखिल की उम्मीदवारी के खिलाफ एक सवाल के जवाब में कहा, ‘‘समर्थक और विरोधी विचार हर कहीं होंगे. कई नेता हैं जो कहीं और जन्मे, कहीं और जीते और संसद तथा विधानसभा के सदस्य बन गए.