नई दिल्लीः 15 विधानसाभ सीटों पर 5 दिसंबर को हुए उपचुनाव(Bypoll Election) के नतीजों के लिए मतगणना जारी है. रुझानों के आधार पर बात करें तो अभी तक भाजपा(BJP) सबसे बड़ी पार्टी बन कर उभरी है जबकि दूसरी तरफ कांग्रेस का इन चुनावों में बुरी तरह से सूपड़ा साफ हो गया है. भाजपा ने दो सीटों पर जीत हासिल कर ली है जबकि 10 सीटों पर आगे चल रही है. कांग्रेस ने एक सीट पर बढ़त बनाई हुई है.

रुझानों में भारी बढ़त के बाद भाजपा और मुख्यमंत्री जश्न की तैयारी में जुट गए हैं और भाजपा कार्यकर्ता एक दूसरे को जीत की बंधाई दे रहे हैं. सीएम येदियुरप्‍पा(CM B. S. Yediyurappa) के बेटे विजयेंद्र ने अपने पिता के सामने साष्‍टांग प्रणाम किया और पिता येदियुरप्‍पा अपने बेटे को मिठाई खिलाते हुए दिखाई दिए. सीएम येदियुरप्पा ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि जनता के सही चुनाव के लिए मैं उनका धन्यवाद करता हूं.


उपचुनाव के रुझानों को देखकर बीजेपी के खेमे में खुशी की लहर दौड़ पड़ी है. वहीं, विरोधी पक्ष कांग्रेस और जेडीएस के खेमें में मासूसी नजर आ रही है. कांग्रेस नेता डी शिवकुमार(DK Shivakumar) ने नतीजों के आने से पहले ही बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा कि चुनाव का नतीजा कुछ भी हो हम जनता के जनादेश का सम्मान करेंगे लेकिन यह भी दिख रहा है कि लोगों ने आजकल दलबदलू लोगों को स्वीकार कर लिया है. शिवकुमार ने कहा कि हम इन उपचुनाव में अपनी हार स्वीकार करते हैं.

15 सीटों के उपचुनाव भाजपा और येदियुरप्पा सरकार के लिए कड़ी अग्नि परीक्षा के समान थी और सीएम येदियुरप्पा को सत्ता में वापसी के लिए छह से ज्यादा सीटों की जरूरत थी. भाजपा के पास कुल 105 विधायकों की संख्या थी और सरकार बनाने के लिए 112 विधायकों की जरूरत थी. उपचुनाव में 12 सीट जीतने से यदियुरप्पा की ताकत अब पहले से दोगुनी हो गई है और यह माना जा रहा है कि कर्नाटक में भाजपा की ही सरकार रहेगी.