नई दिल्ली: कर्नाटक की छह महीने पुरानी गठबंधन सरकार में शनिवार शाम लंबे इंतजार के बाद मंत्रिमंडल विस्तार किया जाएगा. सूत्रों के मुताबिक दो मंत्रियों रमेश जारकिहोली (नगर प्रशासन) और आर शंकर (वन एवं पर्यावरण) को हटाया जा सकता है. वहीं विधायक और पूर्व मंत्री रामलिंगा रेड्डी को मंत्री बनाए जाने की मांग कर रहे उनके समर्थकों ने बेंगलुरू में कांग्रेस ऑफिस के बाहर प्रदर्शन किया. उन्होंने हमने हाथों में तख्तियां ली हुईं थी और अपने विधायक को मंत्री बनाने के लिए नारे लगा रहे थे. Also Read - बिहार: कांग्रेस के प्रदेश कार्यालय से 8 लाख रुपए बरामद, इनकम टैक्स अफसरों ने रणदीप सिंह सुरजेवाला से की पूछताछ

सूत्रों ने कहा कि राज्यपाल वजुभाई वाला शाम 5:20 बजे नए मंत्रियों को शपथ दिलाएंगे. कांग्रेस विधायक दल के नेता सिद्धरमैया के कार्यालय की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि सतीश जारकिहोली, एम बी पाटिल, सी एस शिवल्ली, एम टी बी नागराज, ई तुकाराम, पी टी परमेश्वर नाइक, रहीम खान और आर बी थिम्मारपुर को मंत्री बनाया जाएगा. Also Read - वादा तेरा वादा.....बिहार चुनाव में लगी वादों की झड़ी, किस पार्टी ने जनता से क्या की है प्रॉमिस, जानिए

यह बयान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा नामों को मंजूरी दिये जाने के अगले दिन जारी किया गया है. राहुल गांधी ने शुक्रवार रात पार्टी के कर्नाटक प्रभारी सचिव के सी वेणुगोपाल, कांग्रेस विधायक दल के नेता सिद्धरमैया, प्रदेश कांग्रेस प्रमुख दिनेश गुंडु राव और उप मुख्यमंत्री जी परमेश्वर राव के साथ बैठक के बाद इन नामों को मंजूरी दी थी. हालांकि, कांग्रेस की सत्ता साझीदार जद (एस) इस कैबिनेट विस्तार का हिस्सा नहीं है.

सूत्रों के मुताबिक वह संक्रांति के बाद अपने हिस्से के नए मंत्रियों को मंत्रिमंडल में शामिल कर सकती है. मई में दोनों दलों के बीच हुए सत्ता साझीदारी के लिये हुए समझौते के मुताबिक कांग्रेस के हिस्से में छह और जद (एस) के हिस्से में दो मंत्रिपद बचे हैं. यह कर्नाटक सरकार का दूसरा मंत्रिमंडल विस्तार होगा.