बेंगलुरु: केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने शुक्रवार को एमनेस्टी इंटरनेशनल इंडिया के बेंगलुरु और दिल्ली कार्यालयों पर शुक्रवार को छापे मारे. सीबीआई के एक अधिकारी ने कहा कि हां, छापे मारे गए हैं. विस्तृत जानकारी का इंतजार है. एमनेस्टी इंटरनेशनल इंडिया के एक प्राधिकारी ने अपना नाम गुप्त रखने की शर्त पर बताया कि सीबीआई के करीब छह अधिकारी सुबह करीब साढ़े आठ बजे बेंगलुरु कार्यालय पहुंचे और शाम पांच बजे तक छापेमारी की.

 

मानवाधिकार निगरानी संस्था ने एक बयान में कहा कि पिछले एक वर्ष के दौरान उत्पीड़न का एक स्वरूप उभरा है, जब भी एमनेस्टी इंडिया भारत में मानवाधिकार उल्लंघनों के खिलाफ खड़ा हुआ है और बोला है. उसने कहा कि वह भारतीय और अंतरराष्ट्रीय कानून का पूर्ण पालन करता है. भारत में और अन्य स्थान पर हमारा काम सार्वभौमिक मानवाधिकार को बरकरार रखना और उसके लिए संघर्ष करना है. उसने कहा कि ये कुछ ऐसे मूल्य हैं जो कि भारतीय संविधान में निहित हैं और बहुलवाद, सहिष्णुता और असहमति की एक लंबी और समृद्ध भारतीय परंपरा से प्रवाहित होते हैं.

एक वर्ष पहले प्रवर्तन निदेशालय ने की थी छापेमारी
करीब एक वर्ष पहले प्रवर्तन निदेशालय ने विदेशी मुद्रा उल्लंघन मामले के सिलसिले में एमनेस्टी इंटरनेशनल इंडिया के कार्यालय पर छापेमारी की थी. छापेमारी गृह मंत्रालय द्वारा 2010 में एनजीओ का विदेशी अंशदान (विनियमन) अधिनियम (एफसीआरए) लाइसेंस निरसन के एक पूर्ववर्ती मामले से संबंधित विदेशी प्रत्यक्ष निवेश नियमों के कथित उल्लंघन के सिलसिले में थी.