बेंगलुरू. कर्नाटक में कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन में तल्खी के बीच बुधवार को मुख्यमंत्री एच. डी. कुमारस्वामी ने फिर से धमकी दी कि अगर कांग्रेस के नेता उनपर आक्षेप लगाते रहे तो वह इस्तीफा दे देंगे. उन्होंने कहा, ‘‘हां, मैंने कहा था कि अगर कांग्रेस के नेता मुझे निशाना बनाते रहे तो मैं पद छोड़ दूंगा.’’ जेडीएस के राष्ट्रीय सम्मेलन को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, ‘‘अगर वे (कांग्रेस के नेता) फिर से इस तरह के बयान देंगे तो मैं कितने दिन तक यह सब बर्दाश्त करता रहूंगा. सत्ता तो अल्पकालिक है. जो स्थायी है, वह आप (पार्टी कार्यकर्ता) हैं और इस राज्य की साढ़े छह करोड़ जनता है.’’ Also Read - भूमि कानूनों में संशोधनों पर कांग्रेस ने कहा- जम्मू-कश्मीर की जनता छला हुआ महसूस कर रही है

इससे पहले 28 जनवरी को कुमारस्वामी ने कांग्रेस के एक विधायक की टिप्पणी से आहत होकर इस्तीफा देने की धमकी दी थी जिसके बाद गठबंधन सहयोगी ने मामले को शांत किया. सम्मेलन को संबोधित करते हुए पूर्व प्रधानमंत्री और जेडीएस सुप्रीमो एच. डी. देवगौड़ा ने भी कहा कि कुछ कांग्रेसी नेता की ओर से निशाना बनाए जाने से मुख्यमंत्री आहत हुए हैं. उन्होंने 2006-2007 में सिद्धरमैया के मुख्यमंत्री बनने की कथित महात्वाकांक्षा का भी हवाला दिया. Also Read - केंद्र के एग्रीकल्‍चर एक्‍ट को निष्‍प्रभावी करने के लिए छत्तीसगढ़ सरकार ने कृषि उपज मंडी संशोधन बिल 2020 पारित किया

पूर्व प्रधानमंत्री देवगौड़ा ने कहा, ‘‘तब सिद्धारमैया ने मुझसे कहा था कि अगर मैंने सोनिया गांधी पर दबाव बनाया होता, तो कुमारस्वामी की जगह वह मुख्यमंत्री बन जाते. सिद्धारमैया को दर्द साल रहा है और उन्हें सोनिया गांधी से इस बारे में जवाब मांगना चाहिए.’’ कुमारस्वामी ने कहा कि उनकी सरकार को गिराने के कथित प्रयास के बीच, उनको लोगों की समस्याओं के समाधान के लिए अपने अधिकारियों को निर्देश देना भी कठिन होता जा रहा है. Also Read - 'आइटम विवाद': ECI ने एमपी की मंत्री इमरती देवी से 48 घंटे में मांगा नोटिस का जवाब