नई दिल्ली: कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमास्वामी ने सोमवार को कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात की और गठबंधन सरकार में विभागों को लेकर चल रही खींचतान के मुद्दे पर बातचीत की. कुमारस्वामी की पार्टी जेडीएस ने इसे ‘सकारात्मक’ बातचीत करार दिया और उम्मीद जताई कि अगले एक-दो दिनों में विभागों के बंटवारे के मुद्दे को हल कर लिया जाएगा. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद के आवास पर सोमवार को हुई करीब डेढ़ घंटे की मुलाकात के बाद जेडीएस महासचिव कुंवर दानिश अली ने बताया कि दोनों पार्टियों के बीच सकारात्मक बातचीत हुई है. गठबंधन में कुछ मुद्दों पर अलग राय होना स्वाभाविक बात है. विभागों को लेकर कुछ बातें हैं जिनको एक-दो दिन में हल कर लिया जाएगा. Also Read - सर्वदलीय बैठक से पहले राहुल ने कहा- पीएम बताएंगे कि हर भारतीय को कब तक मिलेगा मुफ्त टीका

पीएम से भी मिलेंगे कुमारस्वामी
वहीं रविवार को मीडिया से बातचीत में यह पूछे जाने पर कि क्या वह कांग्रेस के प्रमुख नेताओं से मिलकर मंत्रिमंडल के विस्तार पर बात करेंगे, कुमारस्वामी ने कहा था कि इसकी संभावना नहीं है क्योंकि उन्हें सोमवार को ही बेंगलुरु वापस लौटना है. गौरतलब है कि कुमारस्वामी पीएम मोदी से भी मुलाकात करेंगे. Also Read - Hyderabad Nikay Chunav 2020: रुझानों में भाजपा को स्पष्ट बहुमत, ओवैसी और टीआरएस धराशायी

ये नेता मीटिंग में रहे मौजूद
इस बैठक में जेडीएस की तरफ से मुख्यमंत्री कुमारस्वामी, दानिश अली और एचडी रेवन्ना और कांग्रेस की तरफ से गुलाम नबी आजाद, अहमद पटेल, डीके शिवकुमार, मल्लिकार्जुन खड़गे, सिद्धरमैया, केसी वेणुगोपाल और जी परमेश्वर शामिल हुए. बैठक से पहले वेणुगोपाल ने कहा था कि कर्नाटक में कांग्रेस- जेडीएस सरकार में विभागों के आवंटन को एक-दो दिन में अंतिम रूप दे दिया जाएगा. Also Read - UP Vidhan Parishad Election: यूपी विधान परिषद की 11 सीटों के लिए हुए चुनाव में 55.47% मतदान

राहुल का विदेश दौरा बाधक नहीं
वेणुगोपाल ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के विदेश जाने की योजना विभागों के आवंटन के रास्ते में बाधक नहीं बनेगी. गौरतलब है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अपनी मां सोनिया गांधी के इलाज के लिए विदेश गए हैं.सूत्रों का कहना है कि दोनों पार्टियों के बीच मुख्य रूप से वित्त मंत्रालय को लेकर बात अटकी हुई है. गठबंधन सरकार में कांग्रेस कोटे से 21 और जेडीएस के कोटे से 11 मंत्री शामिल होंगे.