बेंगलुरु: कर्नाटक के मुख्‍यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने शुक्रवार को कहा कि दो सदस्यीय जदएस-कांग्रेस गठबंधन मंत्रिमंडल का चार या पांच जून को विस्तार हो सकता है. कुमारस्वामी ने नये मंत्रियों के शपथ ग्रहण की तारीखों पर चर्चा के लिए यहां राजभवन में राज्यपाल वजूभाई वाला से भेंट की. उनके साथ उपमुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस प्रमुख जी परमेश्वर भी थे.

 

राजभवन में राज्यपाल वजूभाई वाला से भेंट से पहले कुमारस्वामी ने पत्रकारों से कहा कि हमने रविवार को मंत्रिमंडल का विस्तार करने की सोची थी लेकिन चूंकि राज्यपाल का दिल्ली जाने का पहले से कार्यक्रम तय है, इसलिए हम (दूसरे दिन के बारे में) उनसे अनुरोध करने जा रहे हैं. मुख्यमंत्री ने कहा कि हम उनसे चार या पांच जून पर मंत्रिमंडल के विस्‍तार पर चर्चा करेंगे, हमें देखना होगा, क्योंकि सूचना है कि वह पांच जून को सुबह लौटेंगे. अतएव उनके कार्यक्रम के बारे में पता करने और उनकी इजाजत लेने के लिए हम (उनसे) मिलने जा रहे हैं. आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री आज बाद में मंत्रिमंडल विस्तार और विभागों के बंटवारे का ब्योरा बता सकते हैं.

एचडी देवेगौड़ा के निवास पर मंत्रिमंडल विस्‍तार और विभागों के बंटवार पर चर्चा
राजभवन जाने से पहले कुमारस्वामी, परमेश्वर, कांग्रेस महासचिव केसी वेणुगोपाल ने पूर्व प्रधानमंत्री और जदएस सुप्रीमो एचडी देवेगौड़ा के निवास पर उनके साथ मंत्रिमंडल विस्तार एवं विभागों के बंटवारे के बारे में चर्चा की. नयी सरकार के सत्ता संभालने के दस दिन बीत जाने के बाद भी कुमारस्वामी मंत्रियों की पूरी टीम सामने नहीं ला सके हैं. पूर्ण मंत्रिमंडल के गठन में देरी की वजह दोनों दलों के बीच विभागों खासकर वित्त और ऊर्जा जैसे विभागों के बंटवारे को लेकर रस्साकस्सी बतायी जा रही है. 23 मई को इस नयी सरकार के शपथ ग्रहण के दौरान कुमारस्वामी के साथ केवल परमेश्वर ने उपमुख्यमंत्री के रुप में शपथ ली थी. कुमारस्वामी ने 25 मई को ही विधानसभा में अपनी सरकार का बहुमत साबित कर दिया था.