बेंगलुरू: कर्नाटक में गोकर्ण के महाबलेश्वर मंदिर में श्रद्धालुओं के जींस पैंट, पायजामा और बरमूडा शार्ट्स पहन कर आने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है. अब पुरूष श्रद्धालु सिर्फ धोती पहन कर, जबकि महिलाएं सलवार सूट और साड़ी पहन कर यहां प्रवेश कर सकेंगी.

गोकर्ण महाबलेश्वर मंदिर के कार्यकारी अधिकारी एच हलप्पा ने गुरुवार को बताया, ‘‘हम गोकर्ण में ड्रेस कोड पहले ही लागू कर चुके हैं. प्रतिबंध पहले से थे लेकिन हमने एक महीने पहले इसे लागू किया.’’

गैंगरेप पीड़ित है 16 साल की लड़की, इसलिए स्कूल ने एडमिशन लेने से किया इनकार

उन्होंने बताया कि शर्ट, पैंट, हैट, कैप और कोट पहन कर प्रवेश करने की भी इजाजत नहीं होगी. हलप्पा ने बताया कि पुरुषों को धोती पहन कर आना होगा. वे शर्ट और टी शर्ट पहन कर प्रवेश नहीं कर सकेंगे. सलवार सूट और साड़ी पहनी महिलाओं को ही प्रवेश की इजाजत होगी. वे जींस पैंट पहन कर नहीं आ सकतीं.

अब हवाई जहाज में #MeToo, इंडिगो के विमान में यात्री ने एयर होस्‍टेस से की बदसलूकी

गौरतलब है कि इस मंदिर का निर्माण चौथी सदी में कदंब राजवंश के मयूर शर्मा ने कराया था. कर्नाटक हिंदू धार्मिक संस्थान एवं परमार्थ दान विभाग के सूत्रों ने बताया कि इसी तरह का प्रतिबंध हम्पी के विरूपाक्ष मंदिर में भी है. यह सातवीं सदी का मंदिर है.