मैसूर. कर्नाटक विधानसभा चुनाव के लिए सभी पार्टियां मैदान में उतर गई हैं. बीजेपी और कांग्रेस दोनों ही चुनाव को जीतने के लिए पूरी कोशिश में हैं. ऐसे में दोनों पार्टियां हर तरह की रणनीति पर काम कर रही हैं. इसी बीच एक चुनावी जनसभा में विवादित भाषण देने के आरोप में बीजेपी सांसद प्रह्लाद जोशी के खिलाफ एफआईआर दर्ज हुई है. Also Read - कर्नाटक उपचुनाव नतीजे: भाजपा ने 12 सीटें जीतकर हासिल किया स्पष्ट बहुमत, कांग्रेस को एक से करना पड़ा संतोष

प्रह्लाद जोशी पर आरोप है कि उन्होंने हुब्बली की मस्जिदों पर आपत्तिजनक टिप्पणी की. ये भी आरोप है कि उन्होंने हुब्बली के सदरसोफा क्षेत्र की तुलना पाकिस्तान से की है. इसके विरोध में मुस्लिम समुदाय के लोगों ने प्रदर्शन किया. प्रदर्शनकारियों का कहना है कि जोशी ने एक भाषण में ये भी कहा है कि मस्जिदों में अवैध हथियार रखा हुआ. जोशी पर आईपीसी की धारा 153 और 298 के तहत एफआईआर दर्ज की गई है.

मैसूर में थे अमित शाह
वहीं, दूसरी तरफ कर्नाटक कांग्रेस ने चुनाव आयोग में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के खिलाफ शिकायत की है. कांग्रेस नेताओं का आरोप है कि अमित शाह ने मैसूर में चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन किया है. नेताओं ने चुनाव आयोग से आग्रह किया है कि इस मामले में तुरंत आपराधिक कार्रवाई करें.

सिद्धारमैया को लगेगा सदमा
बता दें कि मैसूर में चुनाव प्रचार करने पहुंचे अमित शाह ने कहा, मुख्यमंत्री सिद्धारमैया और जेडीएस को मैसूर क्षेत्र से अपनी ‘जिंदगी का सबसे बड़ा सदमा’ लगेगा. शाह ने कहा कि वे एक ‘कमीशन सरकार’ और कर्नाटक को विकास के पथ पर ले जाने वाली सरकार के बीच चुनाव करें.