नई दिल्ली: कर्नाटक चुनाव के नतीजे मंगलवार को बीजेपी के फेवर में आए. हाथ से कर्नाटक फिसलता देख कांग्रेस के नेता ईवीएम को दोष देना शुरू कर चुके हैं. ईवीएम को लेकर कांग्रेस के नेता मोहन प्रकाश ने कहा, मैं पहले दिन से ही कह रहा हूं कि देश में कोई भी राजनीतिक दल नहीं है, जिसने ईवीएम पर सवाल नहीं उठाए हैं. यहां तक कि बीजेपी खुद पिछले दिनों इस पर सवाल खड़े कर चुकी है. अब जबकि सभी दल ईवीएम पर सवाल उठा रहे हैं तो फिर बीजेपी को बैलट पेपर के जरिए चुनाव कराने में क्या परेशानी है? कांग्रेस महासचिव गुलाम नबी आजाद ने तो वोटों की गिनती से पहले ही बीजेपी पर अटैक करते हुए कहा था कि यदि कोई कहता है कि वह इतनी सीटें जीतेगा तो ऐसी बात वही कह सकता है, जिसने ईवीएम सेट कर रखी हों.

Karnataka Election Results 2018 LIVE: जीत से उत्साहित पीएम मोदी के मंत्री ने विपक्ष को कहा- ‘गंदगी’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चुनाव प्रचार के दौरान कहा था कि 15 मई को बीजेपी पूर्ण बहुमत के साथ सरकार बनाएगी. इसलिए उन्होंने (कांग्रेस) पहले ही यह कहना शुरू कर दिया है कि मोदी ने ईवीएम के साथ छेड़छाड़ की है. मोदी ने हमें नहीं हराया बल्कि ईवीएम ने हमें हराया है. मोदी ने कहा कि जहां वे जीतते हैं वहां तो ईवीएम ठीक रहता है लेकिन हारने पर वे ईवीएम का राग अलापने लगते हैं. पीएम ने कहा था कि 15 मई को कांग्रेस को अपनी इच्छा के अनुसार कोई भी बहाना देने दीजिए. उनके पांच साल के लिए पापों के लिए लोग उन्हें दंडित करेंगे.

Karnataka Election Results 2018: कांग्रेस के हाथ से निकला एक और राज्य, इस नेता ने कहा- ओह! कर्नाटक तुम भी

प्रधानमंत्री मोदी ने इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) की नई परिभाषा गढ़ते हुए कहा था वास्तव में ईवीएम यह है. ई का मतलब है लोगों की एनर्जी (ऊर्जा), वी का मतलब है लोगों के चुनाव वैल्यू एडिशन (मूल्य संवर्धन) और एम का मतलब है प्रगति के लिए लोगों का मोटिवेशन (प्रेरणा). मैं ईवीएम को इस तरह से देखता हूं.

Karnataka Election Results 2018: सबकुछ किया फिर भी 30 सालों के ट्रेंड को क्यों नहीं बदल पाई कांग्रेस

उमर अब्दुल्ला ने साधा निशाना
कांग्रेस की ओर से ईवीएम पर सवाल उठाए जाने को लेकर नैशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने भी निशाना साधा. उन्होंने ट्वीट किया, ‘प्लीज इस ट्वीट को भविष्य के लिए सुरक्षित कर लीजिए. यदि मैं जीता तो यह मेरे असर और कड़ी मेहनत का नतीजा होगा. यदि मैं हार गया तो पूरी जिम्मेदारी इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों की होगी. यही नहीं इस संबंध में बीजेपी नेता सुब्रमण्यन स्वामी से सवाल पूछा गया तो वह बिना कोई जवाब दिए, जोर-जोर से हंसने लगे.