नई दिल्ली. कर्नाटक चुनाव का मंगलवार को फैसला आ रहा है. काउंटिंग शुरू है और बीजेपी और कांग्रेस में ने टू नेक फाइट है और शुरुआती रुझान भी ऐसा ही बता रहे हैं. राज्य का चुनाव तो सिद्धारमैया और येदियुरप्पा के चेहरे पर ही है, लेकिन पीएम नरेंद्र मोदी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी वहां काफी मेहनत की है. फिर भी 5 ऐसी सीट हैं, जिस पर सबकी नजर बनी हुई है. इससे सिद्धारमैया और येदियुरप्पा की कहीं न कहीं प्रतिष्ठा दांव पर लगी हुई है.

1. चामुंडेश्वरी
यहां सीएम सिद्धारमैया और जेडीएस के जीटी देवेगौड़ा में सीधा मुकाबला है. हालांकि, ये सीट देवगौड़ा की ही है, लेकिन सिद्धारमैया के यहां आने से मुकाबला काफी रोमांचक हो गया है. इस सीट पर वोक्कालिगा वोटर्स की तादाद ज्यादा है, ऐसे में दोनों ने ही उन्हें साधने की पूरी कोशिश की है.

2. शिकारीपुरा
यहां बीजेपी के सीएम पद के उम्मीदवार बीएस येदियुरप्पा और जेडीएस के एचटी बालिगर के बीच सीधा मुकाबला है. ये येदियुरप्पा की परंपरागत सीट है और वे यहां से साल 1983 से जीतते आ रहे हैं. बीच में 1999 में कांग्रेस से उन्हें हार मिली थी.

3. बादामी
यहां से बी सीएम सिद्धारमैया मैदान में हैं. उनके खिलाफ बीजेपी से बी श्रीरामुलु चुनाव लड़ रहे हैं. श्रीरामुलु बीजेपी के राज्य में दलित चेहरा हैं वह बेल्लारी सीट से सांसद भी हैं. ये सीट निर्दलीय उम्मीदवारों की वजह से भी चर्चा में रही है. यहां से 35 निर्दलीय उम्मीदवारों ने पर्चा भरा था, हालांकि बाद में 11 उम्मीदवारों ने नाम वापस ले लिया था.

4. वरुणा
यहां कांग्रेस के यतींद्र एस और बीजेपी के टी बासवराजू में सीधा मुकाबला है. यतींद्र सिद्धारमैया के बेटे हैं. सिद्धारमैया ने इस सीट पर दो बार साल 2008 और 2013 में जीत हासिल की थी. बता दें कि पहले चर्चा थी कि इस सीट पर येदियुरप्पा के बेटे को टिकट दिया जाएगा, लेकिन अंतिम समय में उनका टिकट कट गया था.

5. रामनगर
यहां जेडीएस के एचडी कुमारस्वामी, बीजेपी के एच लीलावती और कांग्रेस के इकबाल हुसैन के बीत त्रिकोणीय मुकाबला है. कुमारस्वामी देवगौड़ा के बेटे हैं और वहां से निवर्तमान विधायक हैं. वे साल 2004 से यहां से जीतते आ रहे हैं.