नई दिल्ली. कर्नाटक विधानसभा चुनाव के परिणाम प्रदेश में सत्तारूढ़ रही कांग्रेस पार्टी के लिए चौंकाने वाले रहे हैं. पार्टी यहां पर जीत की उम्मीद लगाए बैठी थी, लेकिन ताजा चुनाव परिणाम और उसके रुझानों में विपक्षी भाजपा ने मजबूत बढ़त बना ली है. भाजपा कर्नाटक में बहुमत तो नहीं, लेकिन सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है. निर्वाचन आयोग के ताजा आंकड़ों के अनुसार भाजपा को 81 सीटों पर जीत हासिल हो चुकी है, वहीं 23 अन्य सीटों पर उसके उम्मीदवार आगे चल रहे हैं. लेकिन चुनाव आयोग के आंकड़ों की मानें तो भाजपा को कांग्रेस के मुकाबले कम वोट मिले हैं. जी हां, कांग्रेस ने इस चुनाव में जहां लगभग 37.9 प्रतिशत वोट हासिल किया है, वहीं भारतीय जनता पार्टी को इससे लगभग दो फीसदी कम यानी 36.2 प्रतिशत कम वोट मिले हैं. हालांकि भाजपा को वोट भले कम मिले हों, लेकिन पार्टी ने देश के इस दक्षिणी राज्य में एक बार फिर से अपनी पकड़ बना ली है. वहीं, कर्नाटक विधानसभा चुनाव में ‘नोटा’ यानी ‘इनमें से कोई नहीं’ के तहत 1 प्रतिशत से भी कम वोट पड़े. राज्य के तीसरे सबसे बड़े दल, जनता दल (एस) के हिस्से में 18.5 प्रतिशत से ज्यादा वोट आए हैं.

Karnataka Election Results 2018 LIVE: जीत से उत्साहित पीएम मोदी के मंत्री ने विपक्ष को कहा- ‘गंदगी’

कर्नाटक में बसपा को भी मिले वोट
कर्नाटक विधानसभा चुनाव परिणामों में सबसे ज्यादा आश्चर्यजनक परिणाम बहुजन समाज पार्टी का रहा है. बहन मायावती की इस पार्टी के एक उम्मीदवार के पक्ष में भी एक सीट आती दिख रही है. बसपा ने इस चुनाव में 0.4 फीसदी वोट हासिल किए हैं. इन्हीं वोटों की बदौलत उसे ताजा चुनाव परिणाम के रुझानों के एक सीट पर बढ़त मिलती दिखाई दे रही है. इसके अलावा आधा दर्जन से ज्यादा अन्य पार्टियों ने भी कर्नाटक चुनाव में अपनी हिस्सेदारी दिखाई है. लेकिन इनमें से किसी भी पार्टी का वोट प्रतिशत दहाई अंकों में नहीं पहुंचा है.

‘कर्नाटक जीतने वाला देश नहीं जीतता’ गलत है ये तर्क, पढ़ें सही Facts

104 सीटों के साथ भाजपा बनी सबसे बड़ी पार्टी
विधानसभा चुनाव की मतगणना सुबह से ही शुरू हो गई थी. सुबह करीब 8 बजे से चुनाव परिणाम के शुरुआती रुझान आने शुरू हो गए थे. शुरुआती रुझान मिलने के बाद से ही कर्नाटक में भारतीय जनता पार्टी का झंडा बुलंद दिखने लगा था. दिन चढ़ते-चढ़ते चुनावी रुझानों से भाजपा के स्पष्ट बहुमत की ओर बढ़ने के लक्षण दिखने लगे हैं. निर्वाचन आयोग के आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार दोपहर डेढ़ बजे तक भारतीय जनता पार्टी ने 17 सीटों पर जीत दर्ज कर ली थी, वहीं 89 सीटों पर इस पार्टी के उम्मीदवार अपनी बढ़त बनाए हुए हैं. कांग्रेस ने इस अवधि तक कुल 4 सीटों पर जीत दर्ज की है, वहीं 70 अन्य सीटों पर इसके प्रत्याशी विपक्षी दलों के उम्मीदवार पर अपनी बढ़त बनाए हुए हैं. शाम 4 बजे के बाद 81 सीटों पर जीत और 22 सीटों पर बढ़त के साथ भाजपा कुल 104 सीटों के साथ प्रदेश में सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है. वहीं कांग्रेस ने इस समय तक 52 सीटों पर जीत दर्ज कर ली है और इसके उम्मीदवार26 सीटों पर बढ़त बनाए हुए हैं. दोनों पार्टियों के वोट प्रतिशत में कम अंतर को लेकर सोशल मीडिया पर भी खूब प्रतिक्रियाएं दी जा रही हैं. आयोग के आंकड़ों के अनुसार शाम 4 बजे तक जनता दल (एस) के 28 प्रत्याशी जीत चुके हैं और 9 उम्मीदवार बढ़त बनाए हुए हैं. इसके अलावा केपीजेपी और बसपा को 1-1 सीट पर जीत मिली है.