नई दिल्ली: 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले सेमीफाइनल माने जा रहे कर्नाटक में सुबह 7 बजे से वोटिंग जारी है. कांग्रेस और बीजेपी के अलावा जेडीएस भी मैदान में है. कर्नाटक की कुल 224 सीटों में से 222 सीटों पर ही चुनाव हो रहा है.जयनगर सीट पर बीजेपी प्रत्याशी और वर्तमान विधायक बी एन विजयकुमार के निधन के चलते मतदान स्थगित किया गया है. वहीं, आर आर नगर विधानसभा क्षेत्र में हजारों फर्जी वोटर आईडी कार्ड मिलने के बाद मतदान स्‍थगित किया गया है. Also Read - क्या ज्योतिरादित्य सिंधिया की BJP से कांग्रेस में वापसी होगी, राहुल गांधी ने आखिर क्यों कही ये बात?

55600 मतदान केंद्र
राज्य में 4.98 करोड़ से अधिक मतदाता हैं जो 2600 से अधिक उम्मीदवारों के बीच से अपने प्रतिनिधियों का चुनाव कर सकेंगे. इन मतदाताओं में 2.52 करोड़ से अधिक पुरुष, करीब 2.44 करोड़ महिलाएं और 4,552 ट्रांसजेंडर हैं. राज्य में 55,600 से अधिक मतदान केंद्र बनाए गए हैं. कुछ सहायक मतदान केंद्र भी होंगे. स्वतंत्र एवं निष्पक्ष चुनाव सुनिश्चित करने के लिए 3.5 लाख से अधिक कर्मी चुनाव ड्यूटी पर तैनात किए गए हैं. जनजातीय क्षेत्रों में कुछ मतदान केंद्र संबंधित स्थान के पारंपरिक रूप में नजर आएंगे. पहली बार कुछ चुनिंदा मतदान केंद्रों पर दिव्यांग कर्मचारी ड्यूटी पर होंगे. सूत्रों ने बताया कि लोग मोबाइल एप्प से मतदान केंद्रों पर मतदाताओं की कतार की स्थिति के बारे में जान पाएंगे. Also Read - राहुल गांधी ने कहा- ज्योतिरादित्य की कांग्रेस में एक हैसियत थी, अब BJP में दर्शकों की तरह पीछे बैठते हैं

1985 के बाद दोबारा नहीं लौटी कोई सरकार
वैसे 1985 के बाद से कर्नाटक में कोई भी दल लगातार दूसरी बार सत्ता में नहीं आ पाया है. 1985 में रामकृष्ण हेगड़े की अगुवाई में जनता दल दोबारा सत्ता पर काबिज हुआ था. कांग्रेस, पंजाब के बाद एकमात्र बड़े राज्य पर काबिज रहने के लक्ष्य पर केंद्रित है जबकि भाजपा कर्नाटक में अपनी सरकार बनाने के लिए जुटी हुई है. भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि कर्नाटक पार्टी के लिए दूसरी बार दक्षिण में कदम रखने का द्वार होगा. Also Read - Assam Assembly Election 2021: असम में चुनाव से पहले मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार की घोषणा नहीं करेगी भाजपा

भाजपा एक बार ही रही सत्‍ता में रही
भाजपा ने सिर्फ एक बार 2008 से 2013 तक कर्नाटक में शासन किया था, लेकिन उसका कार्यकाल पार्टी की अंदरूनी कलह और भ्रष्टाचार के आरोपों से घिरा रहा था. उसके तीन मुख्यमंत्रियों में से एक और फिलहाल मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार बी एस येदियुरप्पा भ्रष्टाचार के आरोपों में जेल में थे. जनता दल सेक्‍युलर के अध्यक्ष एच डी कुमारस्वामी ने माना है कि उनकी पार्टी के लिए यह जीवन-मरण का सवाल है. जदएस एक दशक से सत्ता से बाहर है.

कांग्रेस का लक्ष्‍य नया इतिहास बनाना
कांग्रेस को विश्वास है कि वह लगातार सत्ता में नहीं आने के चलन को तोड़ेगी और सिद्धारमैया ने कहा कि उनकी पार्टी इतिहास रचेगी. उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘मुझसे अक्सर कहा जाता है कि इतिहास मेरे विरुद्ध है क्योंकि लंबे समय से कर्नाटक में कोई सरकार दोबारा नहीं चुनी गई. लेकिन हम यहां इतिहास रचने के लिए हैं, न कि उसका पालन करने के लिए.’’

बीजेपी जीत को आग बढ़ाना चाहती है
उधर, कांग्रेस की मुख्य प्रतिद्वंद्वी भाजपा ने यह सुनिश्चित करने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी कि इतिहास दोहराया जाए. वैसे भाजपा ने ‘मिशन 150 ( सीट )’ के साथ अपना अभियान शुरू किया था, लेकिन शाह ने गुरुवार को कहा कि पार्टी 130 से अधिक सीटें जीतेगी. 2013 के विपरीत भाजपा इस बार एकजुट है. पिछले चुनाव में वह येदियुरप्पा की केजीपी, बी श्रीरामुलू की बीएसआर कांग्रेस जैसे धड़ों में बंटी थी.प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भाजपा के लिए ताबड़तोड़ प्रचार किया जबकि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी कोई कसर नहीं छोड़ी. सिद्धारमैया समेत चार वर्तमान एवं पूर्व मुख्यमंत्री चुनाव मैदान में हैं. येदियुरप्पा शिकारीपुरा से, कुमारस्वामी चेन्नापटना और रमनगारा से तथा भाजपा के जगदीश शेट्टार हुब्बली धारवाड़ से चुनाव मैदान में ताल ठोक रहे हैं.

2013 में कांग्रेस की 122 सीटें
वर्ष 2013 के चुनाव में कांग्रेस ने 122 सीटें जीती थीं. भाजपा और जदएस को 40-40 सीटें मिली थीं. कर्नाटक जनता पक्ष को छह, बडवारा श्रमिकारा रैयतरा को चार, कर्नाटक मक्कल पक्ष, समाजवादी पार्टी और सर्वोदय कर्नाटक पक्ष को एक-एक सीटें मिली थीं और नौ निर्दलीय विजयी रहे थे. मतगणना 15 मई को होगी.

Live Updates

  • 6:54 PM IST

    कर्नाटक विधानसभा चुनाव 2018: कुल 70 फीसदी वोटिंग हुई

  • 6:54 PM IST

    कर्नाटक विधानसभा चुनाव 2018: कुल 70 फीसदी वोटिंग हुई

  • 5:50 PM IST

    शाम 5 बजे तक 61.25 फीसदी वोटिंग

  • 5:50 PM IST

  • 4:01 PM IST
    कललबुर्गी- 43 डिग्री सेल्सियस गर्मी में वोटर दोपहर बाद पोलिंग बूथ तक नहीं पहुंच रहे.

  • 3:31 PM IST

    कर्नाटक विधानसभा चुनाव में दोपहर 3 बजे तक हुआ 56 फीसदी मतदान.

  • 3:10 PM IST

  • 3:09 PM IST

    अमित शाह एक कॉमेडी शो की तरह हैं और नरेंद्र मोदी की इमेज पूरी तरह से खराब हो चुकी है, मोदी के भाषण खोखले हैं और उनका कर्नाटक की जनता पर कोई असर नहीं है. इसलिए हम परेशान नहीं हैं और हम चुनाव जरूर जीतेंगे- सीएम सिद्दारमैया

  • 3:01 PM IST

  • 3:01 PM IST

    पूर्व केंद्रीय विदेश मंत्री और अब बीजेपी के नेता एसएम कृष्णा ने बेंगलुरू में अपना वोट डाला.