नई दिल्ली। एच डी कुमारस्वामी बुधवार को कर्नाटक की कमान संभालने जा रहे हैं. कांग्रेस के साथ मंत्रियों के नामों, विभागों और दूसरे मुद्दों पर बातचीत के बाद कुमारस्वामी सीएम पद की शपथ लेंगे. कांग्रेस के साथ आज हुई बातचीत के बाद तय हुआ कि कांग्रेस नेता जी परमेश्वरा को डिप्टी सीएम बनेंगे और वह भी बुधवार को कुमारस्वामी के साथ पद और गोपनीयता की शपथ लेंगे. बहुमत परीक्षण 24 मई को होगा. कुमारस्वामी ने कहा कि आज कैबिनेट विस्तार को लेकर फैसले लिए गए हैं. 25 मई को स्पीकर और डिप्टी स्पीकर का चुनाव होगा. गुरुवार को मंत्रियों के विभागों पर फैसला लिया जाएगा. सब कुछ ठीक चल रहा है कोई मतभेद नहीं है. Also Read - कर्नाटक में नाटक: सोमवार को संभावित विश्वास मत को लेकर दोनों पक्ष बना रहे हैं रणनीति

34 में से कांग्रेस के 22 मंत्री

वहीं, कांग्रेस नेता केसी वेणुगोपाल ने कहा कि कांग्रेस-जेडीएस नेताओं की बैठक में कैबिनेट के गठन पर चर्चा हुई. कुल 34 मंत्रियों में से 22 मंत्री कांग्रेस के होंगे जबकि जेडीएस के 12 मंत्री होंगे जिनमें सीएम पद भी शामिल है. के आर रमेश स्पीकर होंगे. बहुमत परीक्षण के बाद विभागों का बंटवारा होगा.

कुमारस्वामी बोले- मेरी जिंदगी की बड़ी चुनौती

मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने जा रहे कुमारस्वामी ने कहा कि मेरी जिंदगी की यह बड़ी चुनौती है. मैं यह अपेक्षा नहीं कर रहा कि मैं आसानी से मुख्यमंत्री के रूप में अपनी जिम्मेदारियों को पूरा कर पाऊंगा. आदि शंकराचार्य द्वारा पहला मठ स्थापित करने वाले स्थल श्रृंगेरी पहुंचे कुमारस्वामी ने कहा कि मुझे भरोसा है कि देवी शारदाम्बे और जगदगुरू की कृपा से चीजें सुचारू रूप से चलेंगी.

उन्होंने कहा कि केवल मुझे नहीं, लोगों को भी संदेह है, राज्य के लोगों को भी संदेह है कि यह सरकार सुचारू ढंग से काम कर पाएगी या नहीं. लेकिन मुझे भरोसा है कि शारदाम्बे और श्रृंगेरी जगदगुरू (शंकराचार्य) की कृपा से सबकुछ सुचारू रूप से होगा. इस बीच, शपथ ग्रहण समारेाह के आधिकारिक निमंत्रण से संकेत मिलते हैं कि कुमारस्वामी के अलावा कुछ अन्य बुधवार को शपथ ले सकते हैं. इसमें कहा गया कि मुख्यमंत्री के अलावा मंत्रिपरिषद भी शपथ लेगी. इससे पहले खबरें थीं कि सिर्फ कुमारस्वामी शपथ लेंगे जबकि बाकी के सदस्य गुरुवार को शक्ति प्रदर्शन के बाद शपथ लेंगे.

नहीं दिखेंगे ये बड़े नेता

बुधवार को होने वाले शपथ ग्रहण समारोह में क्षेत्रीय दलों कई नेता नजर आएंगे. हालांकि तेलंगाना के सीएम चंद्रशेखर राव और डीएमके कार्यकारी अध्यक्ष एम के स्टालिन समारोह में नहीं होंगे. राव आज बेंगलुरु पहुंचे और कुमारस्वामी से मुलाकात की. उन्होंने कहा कि मैं बहुत खुश हूं, शुभकामनाएं, भगवान श्री कुमारस्वामी तो आशीर्वाद दें. हमारे पूर्व पीएम के आशीर्वाद से वह सफल होंगे. ये तो शुरुआत है. क्षेत्रीय दलों की ताकत का भविष्य अब दिखने लगा है. बुधवार को मेरी हैदराबाद में कलेक्टरों के साथ कॉन्फ्रेंस है, इसलिए मुझे लगा कि कुमारस्वामी से मिलकर उन्हें शुभकामना देनी चाहिए. मैं किसी और दिन आऊंगा लेकिन कल मौजूद नहीं रहूंगा.

वहीं, तमिनलाडु के तूतीकोरिन में पुलिस फायरिंग में 9 लोगों की मौत के कारण डीएमके के कार्यकारी अध्यक्ष एमके स्टालिन भी समारोह में शामिल नहीं होंगे. वह बुधवार को तूतीकोरिन जाएंगे और पीड़ितों से मुलाकात करेंगे.