बेंगलुरू. कर्नाटक में सोमवार को 105 शहरी स्थानीय निकायों (यूएलबी) के लिए मतों की गिनती सुबह 8 बजे से शुरू हो गई. मतों की शुरुआती गिनती में कई सीटों के परिणाम आने शुरू हो गए हैं. ताजा जानकारी के अनुसार, 102 शहरी निकायों की 1412 वार्डों के परिणाम आ गए हैं. इसमें कांग्रेस ने जहां 560 सीटें जीत ली हैं, वहीं प्रमुख विपक्षी भारतीय जनता पार्टी 499 सीटें जीतकर दूसरे स्थान पर है. राज्य के तीसरे प्रमुख दल JDS के हिस्से में अभी तक 178 सीटें आई हैं. बता दें कि कर्नाटक के शहरी निकायों के लिए बीते 31 अगस्त को चुनाव हुए थे. निर्वाचन से जुड़े अधिकारी ने बताया कि सभी सीटों के चुनाव परिणाम मंगलवार सुबह तक आने की उम्मीद है. Also Read - यूपी: बीजेपी नेता की मौत, कार में मिली गोली लगी लाश, तमंचा और शराब की बोतल भी मिली

67 फीसदी से ज्यादा हुआ था मतदान
राज्य की 29 नगरपालिकाओं, 53 टाउन नगर पालिकाओं और 23 टाउन पंचायतों के 2,633 वार्डो में और तीन नगर निगमों के 135 वार्डो में मतदान हुए थे. निकाय चुनावों के लिए राज्य में 67.5 प्रतिशत मतदाताओं में मतदान किया था. सभी वार्डों में मतदान के लिए इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) का इस्तेमाल किया गया था. शहरी स्थानीय निकाय चुनाव के लिए कुल 36 लाख मतदाताओं ने पंजीकरण कराया और 13.33 लाख मतदाता तीन शहरों मैसूर, शिमोगा और तुमकुरू के थे. कुल 8,340 उम्मीदवार मैदान में हैं.

सबसे ज्यादा कांग्रेस के उम्मीदवार
कर्नाटक में शहरी निकायों के लिए हुए चुनावों में सत्तारूढ़ कांग्रेस-जेडीएस ने सबसे ज्यादा उम्मीदवार उतारे हैं. दोनों पार्टियों ने इन चुनावों में अलग-अलग प्रत्याशियों को उतारा है. इन चुनावों में कांग्रेस के 2,306 उम्मीदवार, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के 2,203 और जनता दल-सेकुलर (जेडी-एस) के 1,397 मैदान में हैं. 814 शहर निगमों में चुनाव लड़ रहे हैं, जिनमें कांग्रेस से 135, भाजपा से 130 और जेडी-एस से 129 उम्मीदवार शामिल हैं. बता दें कि साल 2013 में 4,976 सीटों पर शहरी निकाय चुनाव हुए थे. कांग्रेस ने 1,960 सीटें जीती थीं, जबकि बीजेपी और जेडी-एस ने दोनों ने 905 सीटें जीती थीं और निर्दलियों ने 1,206 सीटें जीती थीं.