Karnataka Lockdown Update: कर्नाटक में कोरोना वायरस के प्रसार की रोकथाम के लिये बेंगलुरु की स्थानीय निकाय एजेंसियों ने राज्य के बाहर से आने वाले लोगों के लिये संस्थागत क्वारेंटाइन अनिवार्य कर दिया है. एक अधिकारी ने इसकी जानकारी दी. बृहत बेंगलुरु महानगर पालिका (BBMP) के मुख्य आयुक्त गौरव गुप्ता ने कहा, ‘बेंगलुरु में प्रवेश करने वाले लोगों को RT-PCR की निगेटिव जांच रिपोर्ट लानी होगी. अगर वह नहीं लाते हैं तो हम जांच करेंगे और जब तक उनकी रिपोर्ट नहीं आती है तब तक उन्हें Institutional Isolation में रहना होगा.’Also Read - Kerala Lockdown Update: केरल में Night Curfew और रविवार का लॉकडाउन होगा खत्म, जानें क्या बोले सीएम विजयन

वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों एवं अन्य के साथ बैठक के बाद गुप्ता ने बताया कि यह व्यवस्था आज से लागू की गई है. निगम आयुक्त ने बताया कि इस मामले में बीबीएमपी के संभागीय स्तर के अधिकारी पुलिस के साथ समन्वय करेंगे. एक सवाल के जवाब में मुख्य आयुक्त ने बताया कि BBMP की ओर से चिन्हित स्थानों पर संस्थागत पृथक-वास (Institutional Isolation) को जरूरी किया गया है. Also Read - Karnataka Corona News: पड़ोसी राज्य केरल में कोरोना के बढ़ते मामलों से कर्नाटक सतर्क, स्वास्थ्य मंत्री ने किया यह ट्वीट...

प्रदेश में कोरोना संक्रमण के मामलों में बढ़ोत्तरी देखी गई है. 12 जुलाई को नये मामले जहां गिर कर 1386 पर आ गये थे वहीं रविवार को यह बढ़ कर 1,875 पर पहुंच गए थे. मालूम हो कि कर्नाटक में रविवार को कोविड-19 के 1,875 नये मामले सामने आये, जिससे राज्य में संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 29,06,999 हो गई. वहीं, 25 और मरीजों की संक्रमण से मौत होने से मृतकों का आंकड़ा बढ़कर 36,587 हो गया. यह जानकारी राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने दी. Also Read - Bengaluru Ganeshotsav News: बेंगलुरु में केवल तीन दिन सार्वजनिक रूप से गणेश उत्सव मनाने की अनुमति

राज्य में वर्तमान में 24,144 एक्टिव मामले हैं, जबकि राज्य में 1,502 और मरीजों के संक्रमण से ठीक हो जाने से अभी तक ठीक हुए मरीजों की कुल संख्या बढ़कर 28,46,244 हो गई. तटीय कर्नाटक में दक्षिण कन्नड़ जिले में रविवार को कोविड-19 के सबसे अधिक 410 नये मामले सामने आये और 6 मरीजों की मौत हो गई. वहीं कोविड-19 के 409 नए मामलों के साथ, बेंगलुरु शहर जिला दूसरे स्थान पर रहा. वहीं बेंगलुरु शहर जिले में सबसे अधिक आठ मरीजों की मौत हो गई.

(इनपुट: भाषा)