Karnataka Lockdown News: कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रोन (Omicron) के दो मामले सामने आने के बाद कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई (Basavaraj Bommai) शुक्रवार को इस संबंध में एक उच्च स्तरीय बैठक में अगले कदमों के बारे में चर्चा करेंगे. कोरोना के नए वेरिएंट सामने आने के बाद कर्नाटक में कई पाबंदियां (Karnataka Lockdown News) लगाई जा सकती हैं. सीएम बोम्मई ने भी इसके संकेत दिये हैं. बोम्मई ने कहा, ‘हम सभी विवरणों के साथ कल एक बैठक कर रहे हैं और नई मानक संचालन प्रक्रिया (SOP) के साथ सामने आएंगे. हम विशेषज्ञ के विचारों और केंद्र के दिशानिर्देश प्राप्त करने की भी कोशिश कर रहे हैं.’Also Read - 'तीसरी लहर के बावजूद मजबूत हुई भारत की समग्र आर्थिक गतिविधि'

उन्होंने कहा कि हालांकि कर्नाटक में ओमिक्रोन स्वरूप के दो मामलों की पुष्टि हुई है, लेकिन प्रयोगशाला की रिपोर्ट अभी आधिकारिक तौर पर राज्य सरकार के पास नहीं आई है. इससे पहले बोम्मई केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया से मुलाकात की और अपने राज्य में कोविड-19 के ओमिक्रोन स्वरूप के दो मामले सामने आने के बीच इस बारे में चर्चा की. बैठक के बाद, बोम्मई ने संवाददाताओं से इस बात का जिक्र किया कि उन्होंने स्वास्थ्यकर्मियों को कोविड टीके की बूस्टर खुराक देने पर भी चर्चा की. Also Read - Pregnancy Tips: ओम‍िक्रोन के बढते खतरे के बीच क्‍या आप हो गई हैं प्रेग्‍नेंट, इन बातों का रखें खास ख्‍याल

Also Read - कब खत्म होगी कोरोना महामारी, क्या लोगों को हमेशा लगाना होगा मास्क? जानें अंतरराष्ट्रीय स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने क्या कहा...

मुख्यमंत्री ने बताया कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने उनसे कहा कि केंद्र मौजूदा घटनाक्रम पर नजर रखे हुए है और स्वास्थ्यकर्मियों को बूस्टर खुराक लगाने के बारे में फैसला विशेषज्ञ समितियों के साथ चर्चा करने के बाद लिया जाएगा. मुख्यमंत्री ने बताया, ‘मैंने दो मुद्दों पर चर्चा की. एक ,कोविड-19 के प्रसार को नियंत्रित करना और दूसरा, नये स्वरूप के बारे में था.’ बैठक में मांडविया ने राज्य सरकार के टीकाकरण अभियान की सराहना की और इसे इसी गति से जारी रखने को कहा.

केंद्र सरकार ने गुरुवार को कर्नाटक में ओमिक्रोन स्वरूप के दो मामलों का पता चलने की जानकारी देते हुए लोगों से दशहत में नहीं आने, कोविड से जुड़े नियमों का अनुपालन करने तथा बगैर देर किये टीकाकरण कराने की अपील की. बोम्मई ने अपने राज्य में उवर्रक की कमी पर भी मांडविया के साथ चर्चा की, जिनके पास उर्वरक मंत्रालय का भी प्रभार है. उन्होंने केंद्रीय कानून एवं न्याय मंत्री किरेन रिजिजू से भी मुलाकात की. बोम्मई दिल्ली की आधिकारिक यात्रा पर हैं. उनके गुरुवार देर रात तक बेंगलुरु लौटने की संभावना है.

(इनपुट: भाषा)