Karnataka News: वृहत बेंगलुरु महानगर पालिका (BBMP) की एक पूर्व भाजपा पार्षद की गुरुवार को यहां कॉटनपेट में उनके घर के सामने हत्या कर दी गई. पुलिस ने बताया कि हमले के बाद पूर्व घायल भाजपा पार्षद रेखा कादिरेश (46) को केंपे गौड़ा आयुर्विज्ञान संस्थान ले जाया गया लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका. पुलिस के अनुसार हत्या का कारण पिछली कोई दुश्मनी होने का संदेह है.Also Read - आज से कर्नाटक के दो दिवसीय दौरे पर रहेंगे पीएम मोदी, कई परियोजनाओं का करेंगे शिलान्यास | Watch video

अतिरिक्त पुलिस आयुक्त एस मुरुगन ने बताया कि सुबह करीब साढ़े दस बजे रेखा फुड किट बांट रही थीं, उसी दौरान दो मोटरसाइकिलों से कुछ युवक आए और उन्होंने उनपर धारदार हथियार से वार किया. मुरुगन ने कहा, ‘हमारी जांच चल रही है. शीघ्र ही हम अपराधियों को गिरफ्तार कर लेंगे.’ पुलिस सूत्रों ने बताया कि पूर्व पार्षद के घर के सामने लगे सीसीटीवी कैमरों का मुंह दूसरी दिशा में कर दिया गया था ताकि वहां होने वाली किसी घटना को कैमरे में कैद नहीं किया जा सके. Also Read - कर्नाटक में भीषण सड़क हादसा, यात्री बस और लॉरी की टक्कर में 8 लोगों की मौत, 25 घायल

रेखा के पति कादिरेश की सात फरवरी 2018 को दो युवकों ने हत्या कर दी थी. कादिरेश के हमलावरों ने बाद में यहां की एक अदालत में आत्मसमर्पण किया था. पार्टी पदाधिकारियों के अनुसार रेखा ने 2015-20 के दौरान एक बार चलवाडिपल्या वार्ड का प्रतिनिधित्व किया था. आज की घटना पर कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने कहा कि उन्होंने इस संबंध में बेंगलुरु के पुलिस आयुक्त कमलपंत से बातचीत की है. Also Read - Viral Video : बांध की दीवार पर चढ़ने की कोशिश कर रहा था युवक, 30 फीट की ऊंचाई से गिरा नीचे

उन्होंने कहा, ‘पहले उनके पति की नृशंस तरीके से हत्या कर दी गई थी. अब उनकी की गई. हम कड़ी कार्रवाई करेंगे और 24 घंटे के अंदर हत्यारों को गिरफ्तार करेंगे.’ इस घटना से भाजपा नेता और पूर्व पार्षद एन आर रमेश के इस आरोप से राजनीतिक रंग ले लिया है कि चामराजपेट विधानसभा क्षेत्र में कोई भी सुरक्षित नहीं है, जहां का प्रतिनिधित्व कांग्रेस विधायक बी जेड जमीर अहमद खान करते हैं.

रमेश ने कहा, ‘मैं विस्तार में नहीं जाऊंगा.’ उन्होंने कहा कि पार्टी ने रेखा को आगामी बीबीएमपी चुनाव में फिर उतारने का फैसला किया था. रमेश के आरोप पर खान ने कहा कि यह शर्मनाक बात है कि ऐसे आरोप लगाये गए हैं. उन्होंने कहा, ‘यह भाजपा सरकार की विफलता है जो इस हत्या को रोक नहीं पाई. मृतका मेरी बहन जैसी थी. भले ही वह भिन्न राजनीतिक दल की रही हों लेकिन हम परिवार की तरह थे क्योंकि हम अपने निर्वाचनक्षेत्र के विकास के लिए मिलकर काम करते थे.’ (भाषा)