नई दिल्ली: कर्नाटक में सियासी संकट के बीच विधानसभा में जमकर हंगामा जारी है. बीजेपी एक ओर जहां अविश्वास मत के लिए वोटिंग पर जोर डाल रही है. वहीं, कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन सरकार के सीएम कुमारस्वामी इसके लिए शुक्रवार तक समय मांग रही है. वहीं, विधानसभा अध्यक्ष रमेश कुमार ने समय देने से इंकार कर दिया और कहा कि वोटिंग आज ही होगी, चाहे कितनी ही रात क्यों न हो जाए. इसके बाद भी वोटिंग को लेकर सस्पेंस अब तक बना हुआ है.

इस बीच विधानसभा की कार्यवाही कई बार रुक रही है. कांग्रेस-JDS विधायकों ने विधानसभा में हंगामा भी किया. और ‘संविधान बचाने की दुहाई’ के नारे लगाए. स्पीकर ने विधायकों की इस हरकत पर फटकार लगाई और कहा कि मैं यहां रात 12 बजे तक बैठने के लिए तैयार हूं. आप ऐसा क्यों कर रहे हैं? यह सही नहीं है.

गौरतलब है कि 15 बागी विधायकों, जिसमें 12 कांग्रेस व 3 जेडीएस ने सत्र में भाग नहीं लेने का फैसला किया है और दो कांग्रेस विधायक (बी.नाग्रेंद्र व श्रीमंत पाटिल) बेंगलुरू व मुंबई के निजी अस्पताल में भर्ती है. इस तरह 225 सदस्यीय विधानसभा में सहयोगियों का संख्या बल 99 होगा. इसमें विधानसभा अध्यक्ष (कांग्रेस) शामिल हैं. बीजेपी की संख्या दो निर्दलीय विधायकों के समर्थन के साथ 107 होगी, जो प्रस्ताव के विरोध में होगा.