मुंबई: कर्नाटक उपचुनावों में संयुक्त जीत से संकेत मिलते हैं कि धर्मनिरपेक्ष दलों के बीच गठबंधन से भाजपा को पराजित किया जा सकता है. यह बात मंगलवार को कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पृथ्वीराज चव्हाण ने कही. जद (एस) – कांग्रेस गठबंधन के उम्मीदवारों ने पिछले शनिवार को हुए उपचुनावों में दो विधानसभा सीटों और तीन में से दो लोकसभा सीटों पर जीत दर्ज की. Also Read - West Bengal Assembly Election: कांग्रेस का ममता बनर्जी को बड़ा ऑफर, कहा- पश्चिम बंगाल में मिलकर चुनाव लड़े TMC, बीजेपी से...

इससे उत्साहित चव्हाण ने कहा कि उन्होंने जामखींडी विधानसभा क्षेत्र में दो-तीन जनसभाओं को कांग्रेस नेताओं सिद्धारमैया और मल्लिकार्जुन खड़गे के साथ मिलकर संबोधित किया था. Also Read - TMC सांसद नुसरत जहां ने भाजपा को बताया दंगा कराने वाला, मुसलमानों को कहा- उल्टी गिनती शुरू..

पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा, ”स्थिति अच्छी थी. उत्तर कर्नाटक में भाजपा के गढ़ में कांग्रेस की जीत काफी महत्वपूर्ण है. इसी तरह बेल्लारी लोकसभा सीट पर रेड्डी बंधुओं का धनबल काम नहीं आया और कांग्रेस ने बड़े अंतर से जीत हासिल की.” Also Read - कृषि कानूनों के खिलाफ कांग्रेस का प्रदर्शन, राहुल-प्रियंका भी हुए शामिल, कहा- पूंजीपतियों को फायदा पहुंचा रही बीजेपी

चव्हाण ने कहा कि सांप्रदायिक आधार पर चुनावों के ध्रुवीकरण की भाजपा की साजिश कर्नाटक में विफल रही. उन्होंने कहा, ”आज की जीत से साबित होता है कि कांग्रेस छोटे, धर्मनिरपेक्ष और क्षेत्रीय दलों के साथ गठबंधन कर भाजपा को परास्त कर सकती है.”