नई दिल्लीः भारत ने करतारपुर गलियारे को लेकर पाकिस्तान को नए दौर की बातचीत के लिए 11-14 जुलाई की तारीख का प्रस्ताव दिया है. सूत्रों के मुताबिक भारत करतारपुर परियोजना पर पाकिस्तान को उसके द्वारा नियुक्त समिति में एक प्रमुख खालिस्तानी अलगाववादी की उपस्थिति पर अपनी गहरी चिंताओं से पहले ही अवगत करा चुका है. भारत ने परियोजना से संबंधित कुछ अन्य मुद्दों पर पाकिस्तान से स्पष्टीकरण भी मांगा था. Also Read - Bihar Polls 2020: बिहार चुनाव में गठबंधन 4, लेकिन मुख्यमंत्री पद के हैं ये 6 दावेदार

यह पूछे जाने पर कि क्या भारत ने इस मुद्दे पर बातचीत के लिए नई तारीखों का प्रस्ताव किया है और क्या इसका अर्थ यह समझा जाए कि बातचीत की प्रक्रिया में रूकावट बने पूर्ववर्ती मुद्दों को सुलझा लिया गया है, तो घटनाक्रम से परिचित एक सूत्र ने कहा, “हां, (यह) कॉरिडोर के लिए हमारी प्रतिबद्धता को दर्शाता है.” Also Read - Bihar Polls: बिहार में JDU से ज्यादा सीटें आती हैं तो क्या BJP करेगी CM पद की दावेदारी? जानें अमित शाह का जवाब

सूत्रों ने कहा कि बातचीत के लिए 11-14 जुलाई प्रस्तावित तिथियां हैं. विदेश मंत्रालय के अनुसार, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने पाकिस्तानी समकक्ष इमरान खान के बधाई संदेश के जवाब में 12 जून को भेजे एक पत्र में करतारपुर गलियारे को जल्द शुरू करने को कहा था. Also Read - Bihar Polls 2020: बिहार चुनाव में NDA से क्यों अलग हुई LJP, अमित शाह ने बताई वजह...