नई दिल्लीः INX मीडिया केस में पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम की गिरफ्तारी से कांग्रेस पार्टी बौखला गई है. पार्टी ने कहा है कि केंद्र की भाजपा सरकार पीएनबी घोटाले के आरोपी नीरव मोदी से ध्यान हटाने के लिए ऐसा किया है. हालांकि, कांग्रेस के हमलों का जवाब देते हुए भाजपा ने कहा है कि यह एक स्पष्ट मामला है और जांच एजेंसियां अपना काम कर रही हैं. भाजपा सूत्रों ने बताया कि कार्ति की गिरफ्तारी में आश्चर्य करने जैसी कोई बात नहीं है. उनके खिलाफ मामला स्पष्ट था. यह पूरी तरह से कानूनी मामला है.

कार्ति की गिरफ्तारी के बाद कांग्रेस पार्टी ने बचाव में कई नेताओं को मैदान में उतार दिया. सबसे पहले पार्टी प्रवक्त रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि बदले की भावना से की गई इस कार्रवाई से उनकी पार्टी डरने वाली नहीं है. पार्टी सच को सामने लाती रहेगी.

INX मीडिया केस में गिरफ्तार होने वाले कार्ति चिंदबरम को जानिए 10 प्वांइट में

इसके बाद पार्टी की एक दूसरी प्रवक्ता स्वाती चतुर्वेदी ने ट्वीट किया कि कार्ति चिदंबरम को सीबीआई ने गिरफ्तार किया है. क्या पीएम मोदी अब भी हेडलाइन मैनेज करवाकर नीरव मोदी से ध्यान हटाने की कोशिश कर रहे हैं. एक अन्य ट्वीट में उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में कई अन्य कांग्रेस नेताओं की गिरफ्तारी हो सकती है. उन्होंने कहा कि 2जी मामला खत्म होने के बाद आम चुनाव से पहले पिंजरे का तोता सीबीआई की ओर से कुछ और राजनीतिक कावाई की जा सकती है.

इसके बाद कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और राजस्थान के पूर्व मुख्यमत्री अशोक गहलोत ने कहा कि यह अलग तरीके की गिरफ्तारी है. कार्ति चिदंबरम को उस वक्त गिरफ्तार किया गया जब वह चेन्नई एयरपोर्ट पर उतरे थे. वह नीरव मोदी की तरह देश छोड़कर भाग नहीं रहे थे. विदेश से लौटते वक्त एयरपोर्ट पर उनकी गिरफ्तारी मजाकिया लग रही है. वह जांच में सीबीआई का सहयोग कर रहे थे और सीबीआई उनके समन कर सकती थी.

50 करोड़ से अधिक है कार्ति चिदंबरम की संपत्ति, जानें- CBI ने क्यों कसा है शिकंजा?

भाजपा ने कांग्रेस के आरोपों को खारिज किया
हालांकि कि भाजपा ने कांग्रेस के आरोपों को खारिज कर दिया है. भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने एक ट्वीट में कहा कि अगर भ्रष्ट लोगों को जेल में डाला जा रहा है और कानून अपना काम कर रहा है तो क्यों किसी राजनीतिक दल को इसमें बदले की भावना दिख रही है. सीबीआई का आरोप है कि कार्ति चिदंबरम ने यूपीए सरकार में अपने प्रभाव का इस्तेमाल करने के बदले INX मीडिया से पैसा लिया था. सीबीआई इस मामले में पहले ही कार्ति के सीए को भी पुलिस गिरफ्तार कर चुकी है. दिल्ली की एक अदालत ने कार्ति चिदंबरम के चार्टर्ड एकाउंटेंट (सीए) एस भास्कररमन को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा है. भास्कररमन को आईएनएक्स मीडिया से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में गिरफ्तार किया गया था.