चेन्नई। द्रमुक अध्यक्ष एम करुणानिधि का पार्थिव शरीर यहां विशाल राजाजी हॉल में लाया जाएगा ताकि नेता, पार्टी कार्यकर्ता और आम लोग उन्हें श्रद्धांजलि दे पाएं. पार्टी ने बताया कि करुणानिधि का पार्थिव शरीर बुधवार सुबह चार बजे सरकारी संपदा क्षेत्र में राजाजी हॉल में लाया जाएगा. पहले से ही इस बात की व्यवस्था की गई है कि लोग वहां उन्हें श्रद्धांजलि दे पाएं. Also Read - VIDEO: कई दलों के सांसदों ने राज्‍यों को GST के भुगतान के लिए गांधी प्रतिमा के सामने किया प्रदर्शन

Also Read - डीएमके सहित कई दलों ने की 'नीट परीक्षा 2020' को रद्द करने की मांग, पार्टी नेताओं ने संसद परिसर में दिया धरना

गोपालपुरम निवास पर रखा जाएगा पार्थिव शरीर Also Read - PM मोदी की तारीफ करने पर डीएमके ने MLA को किया निलंबित, सेल्वम पहुंचे बीजेपी ऑफिस

पार्टी के अनुसार मंगलवार रात दिवंगत नेता का पार्थिव शरीर उनके गोपालपुरम निवास पर लाया जा रहा है और वहां उसे रात एक बजे तक रखा जाएगा. बाद में पार्थिव शरीर करुणानिधि की बेटी और राज्यसभा की सदस्य कनिमोई के सीआईटी कॉलोनी निवास पर ले जाया जाएगा ताकि उनके परिवार के सदस्य श्रद्धांजलि दे पाएं. यहां से पार्थिव शरीर राजाजी हॉल में अंतिम दर्शन के लिए रखा जाएगा.

करुणानिधि: वो ‘कलैनार’ जिसने अपनी लेखनी से लिखी तमिलनाडु की तकदीर

द्रमुक कार्यकर्ता लगातार कावेरी अस्पताल परिसर में पहुंच रहे हैं जहां से करुणानिधि का पार्थिव शरीर उनके गोपालपुरम निवास के लिए रवाना किया गया. एंबुलेंस के साथ हजारों समर्थक भी आगे चल रहे हैं. बुधवार को दिल्ली और दूसरे राज्यों से कई बड़े नेता यहां पहुंच रहे हैं. इसके मद्देनजर सुरक्षा के भी कड़े इंतजाम किए जा रहे हैं.

अंतिम दर्शन कार्यक्रम

-करुणानिधि का पार्थिव शरीर रात 8.30 बजे से 1 बजे तक गोपालपुरम आवास पर रखा जाएगा

-सीआईटी कॉलोनी में कनिमोझी के आवास पर 1 बजे से 3 बजे तक

-राजाजी हॉल में सुबह 4 बजे से अंतिम दर्शन

राजाजी हॉल में रखा जाएगा पार्थिव शरीर

दिवंगत मुख्यमंत्री जे जयललिता का पार्थिव शरीर भी राजाजी हॉल में रखा गया था. हालांकि, करुणानिधि के अंतिम संस्कार की जगह को लेकर विवाद पैदा हो गया है. तमिलनाडु सरकार ने मरीना बीच पर अंतिम संस्कार की जगह देने से इनकार कर दिया है. परिवार और समर्थक चाहते हैं कि मरीना बीच पर करुणानिधि का समाधि स्थल बनाया जाए. इसे लेकर हाई कोर्ट में भी सुनवाई हो रही है.