कासगंज| कासगंज हिंसा मामले में कार्रवाई करते हुए एक वॉट्सऐप ग्रुप चलाने वाले एडमिन को गिरफ्तार कर लिया है. गिरफ्तार शख्स पर आरोप है कि वह सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक वीडियो और तस्वीरें डालकर लोगों को भड़का रहा था. जिलाधिकारी आरपी सिंह ने बताया कि जिले में साम्प्रदायिक हिंसा के बारे में वॉट्सऐप ग्रुप में आपत्तिजनक और भड़काऊ मैसेज तथा चित्र डालने के आरोप में पुलिस ने ग्रुप एडमिन राम सिंह और ग्रुप सदस्य अजय गुप्ता के खिलाफ दो वर्गों के बीच शत्रुता फैलाने संबंधी भारतीय दंड संहिता की धाराओं के तहत गंजडुंडवारा थाने में मामला दर्ज किया है.Also Read - UP: BJP MLA देवेंद्र प्रताप सिंह का 56 की उम्र में अचानक निधन, CM योगी ने जताया दुख

ग्रुप एडमिन राम सिंह को गिरफ्तार कर लिया गया है जबकि गुप्ता फरार है. पुलिस प्रशासन को जानकारी मिली थी कि साम्प्रदायिक हिंसा के बारे में वॉट्सऐप ग्रुप ‘नक्षत्र कम्प्यूटर’ पर कुछ लोग भड़काऊ वीडियो और तस्वीरें पोस्ट कर रहे हैं. पुलिस ने मामले में कार्रवाई करते हुए ग्रुप के एडमिन राम सिंह को गिरफ्तार कर लिया. ग्रुप के एक सदस्य अजय गुप्ता की तलाश की जा रही है. दोनों आरोपी कासगंज के गंजडुंडवारा इलाके के रहने वाले बताए जा रहे हैं. Also Read - पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र बनारस की इस यूनिवर्सिटी के छात्र संघ चुनाव में NSUI की बड़ी जीत, कांग्रेस खुश

कल गंजडुडवारा इलाके में कुछ अराजक तत्वों ने एक धार्मिक स्थल के गेट पर आग लगा दी. आग को समय रहते बुझा दिया गया और लापरवाही बरतने के आरोप में दो सिपाहियों के खिलाफ कार्रवाई भी की गई थी. इस मामले में अज्ञात लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई थी. Also Read - UP के Kasganj में बिकरू कांड जैसे हमले के बाद पुलिस ने आरोपी को एनकाउंटर में मार गिराया

गौरतलब है कि 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के दिन कासगंज में तिरंगा यात्रा निकालने के दौरान दो पक्षों के बीच हिंसा हुई थी, जिसमें चंदन गुप्ता (22) नाम के एक युवक की गोली लगने से मौत हो गई थी. युवक की हत्या के बाद से कासगंज में हिंसा और आगजनी शुरू हो गई थी.