हिजबुल मुजाहिदीन कमांडर आतंकी बुरहान वानी के मारे जाने के बाद से जारी घाटी में सेना के साथ झड़पों का सिलसिला अब तक थमने का नाम नही ले रहा है। घाटी में हो रहे इस झड़प में मरने वालों की संख्या 21 हो गई है। गौरतलब हो कि रविवार को एक पुलिसकर्मी समेत छह और लोग मारे गए, इसके अलावा 400 लोग घायल भी हुए हैं जिसमें से 100 पुलिसकर्मी हैं। हालात के मद्दे नजर घाटी के 10 ज़िलों में कर्फ़्यू लगा हुआ हैAlso Read - पूर्व उग्रवादी की मौत, स्थिति में सुधार के बाद शिलांग में 12 घंटे के लिये कर्फ्यू में ढील

Also Read - Uttarakhand Lockdown Update: उत्‍तराखंड में 24 अगस्‍त तक बढ़ा Corona Curfew, जानें डिटेल

गौरतलब हो की कर्फ्यू के बाद से घाटी में मोबाइल इंटरनेट सेवाएं भी बंद हैं। एहतियात के तौर पर जम्मू में भी मोबाइल इंटरनेट सेा को बंद कर दिया गया है। सरकार ने कहा, सहयोग करें, संयम बरतने की अपील मुख्यमंत्री महबूबा मुफ़्ती ने कैबिनेट की बैठक कर हालात का जायजा लिया और सुरक्षा बलों के साथ झड़प में लोगों के मारे जाने पर दुख जताया। सरकार ने वादा किया। हिजबुल मुजाहिदीन कमांडर बुरहान वानी के मारे जाने के बाद घाटी में भड़की हिंसा थमने का नाम नहीं ले रही। यह भी पढ़ें: आतंकी बुरहान वानी की मौत के बाद भड़की हिंसा पर कर्फ्यू बेअसर, 16 मरे 200 घायल Also Read - हिंसा के बाद मेघालय के गृह मंत्री ने दिया इस्तीफा, शिलांग में लगाया गया पूर्ण कर्फ्यू; मेघालय के कुछ हिस्सों में मोबाइल इंटरनेट बंद

कर्फ्यू के बावजूद पुलवामा, अनंतनाग और श्रीनगर समेत 10 जिलों में हिंसक विरोध प्रदर्शन जारी है। आज तीसरे दिन भड़की हिंसा और सुरक्षा बलों के साथ संघर्ष में अबतक 21 लोगों की मौत हो चुकी है और करीब 400 लोग घायल हो चुके हैं। हिजबुल कमांडर बुरहान वानी की मौत के बाद उपजे संघर्षो में दोरू अनंतनाग के आदिल बशीर, अचाबल अनंतनाग के दानिश आयूब, अरवानी अनंतनाग के अब्दुल हामिद मूची, हरवत कुलगाम के खुर्शीद अहमद, बिजबेहरा अनंतनाग के जहांगीर गनाई, शोपियां के आजाद हुसैन, सिलिगाम अनंतनाग के एजाज अहमद ठोकरू, कोकरनाग अनंतनाग के अशरफ डार, बिजबेहरा अनंतनाग के शौकत अहमद, खानाबल अनंतनाग के हसीब अहमद और अचाबल अनंतनाग के साकिब मीर की मौत हुई है।