Kashmir Encounter: दक्षिणी कश्मीर के शोपियां जिले के सगुन इलाके में सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ में दो आतंकवादी मारे गए हैं. यह जानकारी अधिकारियों ने बुधवार को दी. आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच यह मुठभेड़ मंगलवार शाम से शुरू हुई है. आतंकवादियों की उपस्थिति के बारे में एक विशेष जानकारी के आधार पर सुरक्षाबलों द्वारा इलाके में घेराबंदी करने और तलाशी अभियान शुरू करने के बाद गोलाबारी शुरू हुई.Also Read - Night Curfew: जम्मू-कश्मीर में अगले आदेश तक जारी रहेगा नाइट कर्फ्यू, इस समय के दौरान बाहर न निकले

Also Read - Earthquake in Jammu Kashmir: जम्मू-कश्मीर में हिली धरती, 5.3 तीव्रता से आया भूकंप

पुलिस ने आतंकवादियों को आत्मसमर्पण करने के लिए कहा, लेकिन उन्होंने ऐसा करने से इनकार कर दिया. जैसे ही सुरक्षाबलों ने घेराबंदी सख्त की वैसे ही छिपे हुए आतंकवादियों ने अधिक संख्या में सामने आकर गोलीबारी शुरू कर दी. पुलिस ने कहा, ‘दो अज्ञात आतंकवादी मारे गए हैं. ऑपरेशन जारी है.’ Also Read - जम्मू कश्मीर में कोरोना केस बढ़े, श्रीनगर हवाई अड्डे पर उड़ान से तीन घंटे पहले मिलेगी यात्रियों को एंट्री

इससे पहले जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर नौगाम क्षेत्र में सोमवार को केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) के एक दल पर हुए हमले के पीछे पाकिस्तान स्थित आतंकवादी संगठन लश्कर-ए-तैयबा का हाथ है. इस हमले में दो सीआरपीएफ कर्मी शहीद और तीन अन्य घायल हो गये. जम्मू कश्मीर पुलिस ने यह जानकारी दी.

कश्मीर जोन के पुलिस महानिरीक्षक विजय कुमार ने कहा, ‘हमने उन आतंकवादियों की पहचान कर ली है, जिनका इस हमले के पीछे हाथ था. वे लश्कर आतंकवादी हैं और उनका अगुवा सैफुल्ला है. हम अपना काम कर रह हैं और शीघ्र ही उनका सफाया होगा. उन्होंने कहा, ‘दो आतंकवादी स्कूटर से, बड़ी संभावना है कि पाम्पोर तरफ से आए और उन्होंने एके राइफल से अंधाधुंध गोलियां चलायीं.’

(इनपुट: एजेंसियां)