रूद्रप्रयाग. मौसम में बदलाव और भारी बर्फबारी का असर केदारनाथ मंदिर पर देखने को मिला है, केदरानाथ मंदिर में कई घंटों की बर्फपारी के बाद की तस्वीर सामने आई है. यहां लगभग 10 इंच तक बर्फबारी होमचुकी है. वहीं, तापमान में गिरावट ने ठिठुरन बढ़ा दी है. यहां तापमान -8 डिग्री तक पहुंच गया है.

बता दें कि नए साल के पहले दूसरे दिन ही समूचा उत्तर भारत भीषण सर्दी की चपेट में दिखाई दिया. कश्मीर में पारा जमाव बिंदु से कई डिग्री सेल्सियस नीचे है जबकि पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश को कोहरे की मोटी चादर ने अपनी चपेट में ले लिया. पुलिस ने बताया कि उत्तर प्रदेश के शामली जिले में एक बुजुर्ग व्यक्ति की ठंड की वजह से मौत हो गई.

राष्ट्रीय राजधानी में, घने कोहरे की वजह से छह उड़ानों और 21 ट्रेनों को रद्द करना पड़ा. राष्ट्रीय राजधानी में न्यूनतम तापमान 8.4 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड हुआ तो अधिकतम तापमान 17.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो मौसम का अबतक का सबसे कम तापमान है. मौसम विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि शहर में सुबह साढ़े पांच बजे दृश्यता का स्तर 800 मीटर था जो सुबह साढ़े आठ बजे 300 मीटर तक घट गया. हालांकि यह सुबह साढ़े 11 बजे सुधर कर फिर 800 मीटर हो गया और दोपहर ढाई बजे 1,000 मीटर हो गया.

कश्मीर में लोग लगातार कड़ाके की ठंड का सामना कर रहे हैं और पारा शून्य से कई डिग्री सेल्सियस नीचे चला गया है. अधिकारियों ने बताया कि श्रीनगर में पारा मामूली रूप से कुछ ऊपर चढ़ा था. यहां का तापमान शून्य से 4.3 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया. अधिकारी ने बताया कि लद्दाख क्षेत्र का लेह सबसे सर्द इलाका रहा. यहां का न्यूनतम तापमान रात में शून्य से 14.7 डिग्री सेल्सियस नीचे चला गया था.

उन्होंने बताया कि उत्तर कश्मीर के गुलमर्ग में न्यूनतम तापमान शून्य से 6.0 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया. अधिकारी ने बताया कि सालाना अमरनाथ यात्रा के दौरान आधार शिविर के रूप में इस्तेमाल होने वाले पहलगाम में तापमान शून्य से 6.6 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया. हिमाचल प्रदेश के कई इलाके भी भीषण सर्दी की चपेट में है. न्यूनतम तापमान में और गिरावट आई है जबकि बर्फीली हवाओं ने ठिठुरन बढ़ाई है. ऊंचाई वाले जनजातीय इलाके तथा अन्य ऊंचे पहाड़ी इलाकों में मध्यम स्तर की बर्फबारी हुई .

पहाड़ी राज्य में कल्प और मनाली में पारा शून्य से नीचे है. यहां क्रमश: तापमान शून्य से 4.8 डिग्री सेल्सियस नीचे और शून्य से 3.2 डिग्री सेल्सियस कम है जबकि मध्यम और ऊंचाई वाले कई इलाकों में तापमान जमाव बिन्दु के आसपास है. उत्तर प्रदेश में मुरादाबाद राज्य का सबसे ठण्डा स्थान रहा, जहां न्यूनतम तापमान 5.7 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया. वहीं, राज्य में शुष्क मौसम बना हुआ है और कई स्थानों पर मध्यम से घना कोहरा रहा.

मौसम केन्द्र के मुताबिक पिछले 24 घंटे के दौरान प्रदेश के ज्यादातर मण्डलों में दिन के तापमान में भारी गिरावट आई. इस अवधि में वाराणसी, इलाहाबाद, लखनऊ, बरेली, आगरा, मेरठ, गोरखपुर, मुरादाबाद तथा झांसी मण्डलों में अधिकतम तापमान सामान्य से काफी नीचे दर्ज किया गया. पंजाब और हरियाणा के कई इलाकों में कोहरे की घनी चादर छाने से रेल, विमान और यातायात सेवाएं प्रभावित हुईं और साथ ही दोनों राज्यों के अधिकतर इलाकों में ठिठुरने वाली ठंड रही. राज्यों में दृश्यता 200 मीटर तक गिर गई.

मौसम विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि दोनों राज्यों में सबसे ठंडा क्षेत्र बठिंडा रहा, जहां न्यूनतम तापमान 2.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया फरीदकोट में न्यूनतम तापमान 3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. अमृतसर में न्यूनतम तापमान 4.2 डिग्री सेल्सियस और सिरसा में 4.8 डिग्री सेल्सियस, आदमपुर में 5.8 डिग्री सेल्सियस, भिवानी में 6.5 डिग्री सेल्सियस और हिसार में 7.3 डिग्री सेल्सियस रहा.

(भाषा से प्राप्त जानकारी के साथ)