नई दिल्ली: राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में शराब की सभी निजी दुकानें शुक्रवार से खुलने की संभावना है क्योंकि दिल्ली सरकार ने इन्हें 21 मई तक अपनी मासिक भंडारण रिकॉर्ड (एमएसआर) का ब्यौरा सौंपने के लिए कहा है. Also Read - बीसीसीआई को भरोसा, भारत से टी20 विश्व कप की मेजबानी छीनकर 'आत्महत्या' नहीं करेगी ICC

आबकारी विभाग ने कहा कि सरकार के आदेश के मुताबिक मॉल में शराब की दुकानें बंद रहेंगी. इसने कहा कि दिल्ली में शराब की करीब 450 निजी दुकानें हैं जिन्हें सम- विषम आधार पर खुलने की अनुमति दी जाएगी. Also Read - लॉकडॉउन में दिल्‍ली के एक किसान की दरियादिली, प्‍लेन से 10 प्रवासी श्रमिकों को भेज रहा बिहार

दिल्ली में मॉल और निषिद्ध क्षेत्रों को छोड़कर शराब की सभी सरकारी दुकानों को खोलने की अनुमति दी जा चुकी है. आदेश में कहा गया है कि शराब की निजी दुकानों को हलफनामा देना होगा कि उनकी दुकान कोविड-19 निषिद्ध क्षेत्र में नहीं पड़ती हैं. इसने यह भी स्पष्ट किया कि शराब की निजी दुकानों को एमएसआर प्रक्रिया पूरी किए बिना नहीं खोला जा सकता है. Also Read - Coronavirus In World Update: पूरी दुनिया कोरोना के खौफ में, अमेरिका में मौत का आंकड़ा 1 लाख के करीब, जानें बड़े देशों का हाल

आदेश में कहा गया है, ‘‘सभी एल-7 लाइसेंसधारकों (शराब की निजी दुकानों) को निर्देश दिया जाता है कि 19 मई और 21 मई 2020 के बीच एमएसआर प्रक्रिया पूरी करें… एमएसआर अनुपालन रिपोर्ट और हलफनामा सौंपने के बाद दुकानों को सम-विषम आधार पर खोलने की अनुमति दी जाएगी.’’

इसने कहा कि अगर कोई निजी दुकान गलत सूचना के आधार पर खुलती है तो उसका लाइसेंस रद्द कर दिया जाएगा. सरकार ने चार मई को शराब की करीब 150 सरकारी शराब की दुकानों को खोलने की अनुमति दी थी जिसके बाद दुकानों पर लंबी कतारें लग गई थीं.

आपको बता दें कि लॉकडाउ 3 के खत्म होने से पहले सरकार ने दिल्ली में केवल सरकारी दुकानों को खोलने की अनुमति दी थी. तभी से लगातार निजी दुकान मालिक दुकाने खोलने के लिए सरकार से अनुमति मांग रहे थे. अगर सरकार आज फैसला देती है तो यह उनके लिए काफी राहत भरा कदम होगा.