कट्टाप्पना (केरल): संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) पर आयोजित एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने के थोड़ी देर बाद ही भाजपा के राज्य सचिव ए. के. नजीर पर इडुक्की जिले के नेदुंगंदम स्थित एक मस्जिद में पर हमला किया गया. वहीं, पुलिस का कहना है कि घटना मस्जिद के अंदर होने की वजह से यह साफ नहीं है कि नजीर पर किसने हमला किया. नजीर को तुरंत स्थानीय अस्पताल ले जाया गया और फिर उन्हें कोच्चि के अमृता इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज में भर्ती कराया गया.

भाजपा ने ‘सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया’ (एसडीपीआई) और माकपा समर्थक ‘डेमोक्रेटिक यूथ फेडरेशन ऑफ इंडिया’ (डीवाइएफआई) के कार्यकर्ताओं पर हमला करने का आरोप लगाया है.

पुलिस का कहना है कि घटना मस्जिद के अंदर होने की वजह से यह साफ नहीं है कि नजीर पर किसने हमला किया.

जन जागृति बैठक में शिरकत करने के बाद थुकुप्पलम जामा मस्जिद में नमाज पढ़ने पहुंचे नजीर को कुछ लोगों ने अंदर दाखिल होने से रोका. इमाम ने उन्हें नमाज पढ़ने की अनुमति दे दी.

भाजपा ने प्रेस कॉन्‍फ्रेंस सम्मेलन में कहा, ”नमाज पढ़ते समय नजीर को पीटा गया और लातें भी मारी गईं.” नजीर को तुरंत स्थानीय अस्पताल ले जाया गया और फिर उन्हें कोच्चि के अमृता इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज में भर्ती कराया गया.

कट्टाप्पना के पुलिस उपाधीक्षक एन. सी. राजमोहन ने बताया कि जन सभा के हिस्से के तौर पर भाजपा ने एक रैली भी निकाली थी, जहां डीवाइएफआई के तीन कार्यकर्ताओं ने कुछ बाधाएं पैदा की थीं. उन्होंने बताया कि मस्जिद के अंदर हमला होने की वजह से यह पता नहीं चल पाया है कि हमले में कौन शामिल था.