तिरूवनंतपुरम/कोषिक्कोड: केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने बृहस्पतिवार को कहा कि संसद में पारित नागरिकता (संशोधन) विधेयक राज्य में लागू नहीं किया जाएगा. वहीं, उत्तरी केरल में एक स्थानीय कॉलेज के सैकड़ों छात्रों ने एक मार्च निकाला और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के पुतले फूंके. कांग्रेस नीत यूडीएफ ने भी राज्य सचिवालय के सामने विधेयक और महंगाई सहित कई अन्य मुद्दों के खिलाफ प्रदर्शन किया.

 

विजयन ने भाजपा नीत केंद्र सरकार की आलोचना की और कहा कि असंवैधानिक विधेयक के लिए केरल में कोई जगह नहीं होगी और राज्य इसे लागू नहीं करेगा. उन्होंने कहा कि इस विधेयक को राज्य में लागू नहीं किया जाएगा. कोषिक्कोड में फारूक कॉलेज के सैकड़ों छात्रों ने विधेयक के खिलाफ लंबा मार्च निकाला, विधेयक की प्रतीकात्मक प्रतियां फाड़ी और शाह का पुतला फूंका.

देश में लोकतंत्र खतरे में
विजयन ने ट्वीट कर कहा कि देश में लोकतंत्र खतरे में है. भाजपा ने स्पष्ट कर दिया है कि उसका मुख्य राजनीतिक औजार सांप्रदायिकता है. विजयन ने कहा कि यह दुनिया के समक्ष भारत को अपमानित करता है. उन्होंने दावा किया कि आरएसएस हिंदू राष्ट्र के एजेंडा को लागू करने की कोशिश कर रहा है.