नई दिल्ली: कोरोना वायरस के बारे में लगातार कहा गया कि इस वायरस के साथ जीना सीखना होगा. एहतियात को अपनी ज़िन्दगी में शामिल करना होगा. क्योंकि ये वायरस लम्बे समय तक मौजूद रहेगा. इस बात को ध्यान में रखते हुए केरल में राज्य सरकार ने बेहद अहम और बड़ा कदम उठाया है. केरल में अब एक दो महीने नहीं बल्कि पूरे एक साल तक एहतियात बरतनी होगी. राज्य सरकार ने एक साल तक सावधानी बरतने के लिए नियमों का पालन करने के निर्देश दिए हैं. केरल पहला राज्य है जिसने इतने लम्बे समय के लिए ऐसे निर्देश दिए हैं. Also Read - कोरोना: अब दिल्ली की बसों में नहीं मिलेगा कागज़ का टिकट, मोबाइल के जरिए होगी ई-टिकटिंग

सार्वजनिक जगहों पर मास्क लगाना और शारीरिक दूरी के नियम का पालन करना इस निर्देश में शामिल है. एक साल तक लोगों को सार्वजनिक जगहों पर मास्क पहनना होगा. इसके साथ ही किसी भी ऐसे कार्यक्रम की अनुमति लेनी होगी जहां लोग एकत्रित होने वाले होंगे. अधिक भीड़ वाले कार्यक्रमों पर रोक होगी. अनुमति के बाद भी 10 से अधिक लोग किसी कार्यक्रम में शामिल नहीं हो पाएंगे. Also Read - गुजरात में कोरोना का कहर: 65 हज़ार से अधिक हुई संक्रमितों की संख्या, मृतकों का आंकड़ा ढाई हज़ार पार

शादियों में 50 लोग, और अंतिम संस्कार में 20 से अधिक लोग शामिल नहीं हो सकते हैं. ये नियम एक साल तक चलेगा. बता दें कि केरल में कोरोना वायरस का असर है. केरल में फिलहाल पांच हज़ार से अधिक मामले हैं. 25 लोगों की मौत हुई है. जबकि 3 हज़ार से अधिक लोग ठीक हो चुके हैं. सबसे पहले देश में केरल में ही कोरोना का मामला सामने आया था. तीन मरीज मिले थे, जो कि ठीक हो गए थे. केरल देश के ऐसे राज्यों में है जिसने कोरोना को फैलने से काफी हद तक रोक लिया. Also Read - ट्रंप बोले- अमेरिका कोरोना के खिलाफ ‘बहुत अच्छा’ कर रहा, भारत में ‘जबर्दस्त समस्या’ है