विल्लुपुरम (तमिलनाडु): केरल की विनाशकारी बाढ़ से द्रवित हो कर तमिलनाडु की नौ वर्षीय एक बच्ची ने साइकल खरीदने के लिए चार साल तक गुल्लक में जमा किए गए रुपयों को केरल में राहत कार्यों के लिए दान कर दिया. उसके इस नेक काम से भावुक हो कर साइकल बनाने वाली एक प्रमुख कंपनी ने बच्ची को उसके सपनों की साइकल तोहफे में देने का वादा किया है.

चार साल में साइकिल के लिए जुटाए थे 9 हजार रूपए
राज्य के विल्लुपुरम क्षेत्र की अनुप्रिया ने टीवी पर केरल की तबाही देखने के बाद चार साल तक जमा की गई 9 हजार रुपए की अपनी बचत को दान करने का फैसला किया. उसने यहां मीडिया को बताया, मैंने एक साइकल खरीदने के लिए पिछले चार सालों में  पैसे (करीब 09 हजार रुपए ) जमा किए थे, लेकिन मैंने टीवी पर केरल बाढ़ के दृश्य देखे और राशि दान करने का फैसला किया.

केरल की मदद को बढ़े हाथ, उप राष्ट्रपति व ओडिशा के IAS/IPS ऑफिसर एक दिन का वेतन करेंगे दान

हीरो मोटर्स ने किया हर साल नई साइकिल का वादा
मदद के लिए हाथ बढ़ाने वाली अनुप्रिया ने अपने इस नेक काम से लोगों का दिल जीत लिया और हीरो साइकल्स कंपनी ने इस बात पर खास तौर पर गौर किया. हीरो साइकल्स ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर “मानवता के समर्थन के उसके भाव’ की प्रशंसा की और कहा कि उसे उनकी तरफ से एकदम नई साइकल मिलेगी.”

हीरो मोटर्स कंपनी के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक पंकज एम मुंजाल ने अनुप्रिया को एक ”नेक इंसान” बताया और उसे हर साल एक नई साइकल देने का आश्वासन दिया.

शशि थरूर ने की प्रशंसा
वहीं केरल से कांग्रेस के सासंद शशि थरूर ने कंपनी के इस कदम का स्वागत किया. उन्होंने कंपनी को धन्यवाद देते हुए कहा कि 9 साल की इस बच्ची ने बाढ़ पीड़ितों की सहायता के लिए बचाए अपने सारे पैसे दान दे दिए. उसे साइकिल देने के लिए हीरो साइकल्स को शुक्रिया.