कोच्चि. देश के कई राज्यों में भीषण बारिश की वजह से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है. महाराष्ट्र, केरल और तमिलनाडु में बाढ़ से हालत गंभीर बनी हुए है. भारी बारिश, तेज हवाओं और भूस्खलन से भारी तबाही हुई है और गुरुवार को वर्षाजनित हादसों में 15 लोगों की मौत होने की खबरे हैं. केरल के कोच्चि में अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे के पार्किंग क्षेत्र में बाढ़ का पानी भरने के बाद उड़ानों का परिचालन शुक्रवार सुबह तक के लिए स्थगित कर दिया गया है. मौसम के हालात अभी ऐसे ही बने रहने की संभावना है. भारतीय मौसम विभाग ने केरल समेत देश के आधा दर्जन से ज्यादा राज्यों में अगले दो दिनों में भारी बारिश की संभावना जताई है. केरल सरकार ने बाढ़ के हालात देखते हुए प्रभावित इलाकों में स्थित स्कूलों में छुट्टी की घोषणा कर दी है. Also Read - Burevi Cyclone Latest News: चक्रवाती तूफान का संकट, दो राज्‍यों के इन तटीय शहरों में NDRF की टीमें तैनात

Also Read - अब केरल में तूफ़ान की संभावना: मौसम विभाग ने 4 जिले में रेड अलर्ट, 3 में ऑरेंज अलर्ट जारी

केरल में भारी बारिश से कई इलाकों में फैला बाढ़ का पानी, 2 लोगों की मौत, हालात गंभीर Also Read - Cyclone Nivar Latest Update: आज तमिलनाडु और पुडुचेरी के तट से टकराएगा 'निवार', 12 घंटे में ले सकता है भीषण रूप

कोचीन इंटरनेशलन एअरपोर्ट लिमिटेड (सीआईएसल) की ओर से जारी एक बयान में कहा गया,‘‘बाढ़ के कारण पार्किंग क्षेत्र जलमग्न हो गया है, कोच्चि हवाईअड्डे पर सभी उड़ानें नौ अगस्त सुबह नौ बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई हैं.’’ केरल के कई इलाकों में भारी बारिश से उत्तरी केरल बाढ़ की चपेट में हैं. यहां गुरुवार को विभिन्न हादसों में चार लोगों की मौत हो गई. मौसम विभाग ने राज्य के चार जिलों के लिए ‘रेड अलर्ट’ जारी किया है. ये चार जिले भारी वर्षा और तेज हवाओं की चपेट में हैं.

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के सूत्रों ने कहा कि यह अलर्ट इडुकी, मलप्पुरम, कोझीकोड और वायनाड के लिए जारी किया गया है. राज्य की अधिकांश नदियों और बांधों में जलस्तर बढ़ रहा है और कन्नूर, वायनाड, इडुकी, मलप्पुरम, कोझीकोड और कासरगोड में बाढ़ जैसे हालात हैं. यहां की प्रमुख नदियों जैसे मणिमाला, मीनाचल, मूवट्टापुझा, चलियार, वालापट्टनम, इरूवाझीनीपुझा और पंबा में जलस्तर बढ़ा हुआ है.

आपको बता दें कि केरल के अलावा महाराष्ट्र, कर्नाटक, तमिलनाडु और मध्यप्रदेश के अधिकांश इलाकों में भीषण बारिश के कारण लोगों को बाढ़ का सामना करना पड़ रहा है. महाराष्ट्र के पांच पश्चिमी जिलों में दो लाख से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है. भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, गोवा, महाराष्ट्र, गुजरात, कर्नाटक और केरल में अगले दो दिन में भीषण बारिश होने का अनुमान है.

(इनपुट – एजेंसी)