नई दिल्ली: केरल में भारी बारिश से बांध और नदियां उफान पर हैं. बाढ़ से मरने वालों की संख्या गुरुवार को बढ़कर 79 हो गई. केरल में बुधवार शाम से रेड अलर्ट जारी है. गुरुवार को भी मल्लापुरम, कोझिकोड, पलक्कड़ और त्रिशूर में लोगों के मरने की खबर है. बीते 24 घंटों में मध्य केरल का पत्तनमतिट्टा जिला सर्वाधिक प्रभावित रहा. यहां छात्रों सहित हजारों की संख्या में लोग रानी, अरनमुला और कोझेनचेरी में अपने घरों में फंसे हैं. राज्य में 8 अगस्त से मूसलाधार बारिश हो रही है. Also Read - Independence Day 2020: स्वतंत्रता दिवस पर ऐसा रहा पीएम मोदी का लुक, साफे की रही है चर्चा

केरल बाढ़ से जुड़ी 10 बातें
1. केरल में पब्लिक ट्रांसपोर्ट सिस्टम पूरी तरह चरमरा गया है. कोच्चि में मेट्रो, ट्रेन और हवाई यातायात प्रभावित हुआ है. कई ट्रेनों को कैंसिल किया गया है वहीं कई के रूट बदले गए हैं. Also Read - अर्थव्यवस्था को ‘अनर्थव्यवस्था’ में परिवर्तित कर रही है केंद्र सरकार की नीतियां: कांग्रेस

2. केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने बुधवार को अपने एसओएस को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री राजनाथ सिंह और तमिलनाडु के सीएम ई पलानीस्वामी के पास भेजा और मुलापेरियर डाम के बढ़ते जलस्तर की जानकारी दी. Also Read - मोदी सरकार के खिलाफ सबसे मुखर हैं राहुल गांधी, इसलिए कांग्रेस कराएगी अध्यक्ष पद पर वापसी!

3. गुरुवार सुबह एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन से बात की और हालात का जायजा लिया. पीएम ने रक्षा मंत्री से भी राहत और बचाव कार्य में हर संभव मदद के लिए कहा. पीएम मोदी ने ट्वीट किया, मैंने गुरुवार सुबह एक बार फिर सीएम पिनराई विजयन से बात की और राज्य में बाढ़ की स्थिति का जायजा लिया. हमने रक्षा मंत्रालय से भी राहत और बचाव कार्य तेज करने के लिए कहा है. हम केरल के लोगों की सुरक्षा और अच्छे स्वास्थ्य की कामना करते हैं.

4. कोच्चि के कई एरिया बाढ़ से बुरी तरह प्रभावित हैं. अलुवा पेरियार नदी के प्रसिद्ध तटों का बुरा हाल है. प्रसिद्ध शिव मंदिर पूरी तरह से डूबा हुआ है.

5. पेरियार नदी पर बने बांध का फाटक खोले जाने से कोच्चि इंटरनेशनल एयरपोर्ट में पानी घुस गया. एयरपोर्ट प्रशासन ने शनिवार तक सभी उड़ानों का परिचालन निलंबित कर दिया है और आने-जाने वाले सभी उड़ानों को तिरुवनंतपुरम या कालीकट स्थानांतरित कर दिया. नागर विमान मंत्रालय ने उड़ानों को मुंबई या अन्य स्थानों पर भेजने के बजाय केरल के अन्य हवाई अड्डों का इस्तेमाल करने का राज्य का अनुरोध मान लिया है.

6. दक्षिणी केरल के इडुक्की और मलप्पुरम और कन्नूर के उत्तरी जिलों से ताजा भूस्खलन की सूचना है.

7. एनडीआरएफ की टीम पूरी रात राहत और बचाव कार्य में लगी रही. बचाव टीमों को दक्षिण केरल के पठानमथिट्टा जिले से रानी, कोझुनचेरी और अरमानुला जैसे स्थानों पर बचाव कार्य में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है.

8. बाढ़ से प्रभावित इलाके में नेवी ने कई रेस्क्यू टीमों को भेजा है. नावों के जरिए लोगों को सुरक्षित जगहों पर ले जाया जा रहा है.

9. पर्यटन के प्रसिद्ध मुन्नार और पोनमुडी जैसे लोकप्रिय इलाके भूस्खलन के कारण खराब सड़कों की वजह से लगभग कट गए हैं. आधिकारिक वाहनों को छोड़कर, मुन्नार में प्रवेश करने के लिए किसी अन्य वाहन की अनुमति नहीं है. लोगों से कहा गया है कि वे सबरीमाला पहाड़ी मंदिर न जाएं क्योंकि बारिश से भरे पंपा नदी में पानी का स्तर ऊंचा है.

10. मंगलवार देर से लगातार बारिश के बाद पहली बार केरल में 33 बांधों के द्वार खोल दिए गए हैं.