नई दिल्‍ली: देश की राजधानी दिल्‍ली में आज केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार के एक मंत्री भूखहड़ताल पर बैठे नजर आए. ये हैं विदेश मंत्री और संसदीय कार्य वी. मुरलीधरन. केंद्रीय राज्‍य मंत्री मुरलीधरन केरल के बहुचर्चित गोल्‍ड स्‍मगलिंग केस को लेकर राज्‍य के मुख्‍यमंत्री पिनराई विजयन के इस्‍तीफे को लेकर एक दिन की भूख हड़ताल की है. Also Read - यौन-उत्पीड़न हमले की शिकार 12 साल की लड़की की हालत गंभीर, एम्‍स में सर्जरी, ICU में वेंटिलेटर पर

केरल के सनसनीखेज सोना तस्करी मामले (Kerala gold smuggling case) में दो आरोपियों, स्वप्ना सुरेश और संदीप नायर को राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने 11 जुलाई को बेंगलुरु से गिरफ्तार किया था. एनआईए ने इससे पहले कहा था कि मामले के सिलसिले में गिरफ्तार किए गए आरेापियों ने देश में और खासतौर पर केरल में कई बार विदेशों से विभिन्न हवाईअड्डों और बंदरगाहों के जरिये भारी मात्रा में सोना लाया था. Also Read - कोविड-19: दिल्ली की बसों में कागज का टिकट रद्द, अब मोबाइल के जरिए होगी ई-टिकटिंग

एजेंसी ने पिछले हफ्ते एनआईए अदालत में सौंपी गई एक रिपोर्ट में कहा था कि शुरूआती जांच से यह संकेत मिला है कि इस मामले में भारत और विदेश में अत्यधिक प्रभावशाली लोग शामिल रहे हैं. जांच में यह भी खुलासा हुआ कि आरोपियों ने तस्करी की गतिवधियों से प्राप्त धन का इस्तेमाल आतंकवाद को धन मुहैया करने में किया गया होगा.

इस मामले में एनआईए भारतीय प्रशासनिक सेवा के निलंबित अधिकारी एम शिवशंकर से कई बात पूछताछ कर चुकी है.एजेंसी केरल में कूटनीतिक चैनल का इस्तेमाल करते हुये सोने की तस्करी के मामले की जांच कर रही है.

घटना में नाम आने के बाद अधिकारी को मुख्यमंत्री पिनराई विजयन के प्रधान सचिव के पद से तथा प्रदेश के सूचना प्रौद्योगिकी सचिव के पद से हटा दिया गया था. इससे पहले उन पर मामले की एक मुख्य महिला आरोपी के साथ संबंध होने का आरोप लगाया गया था. पहले एनआईए ने तिरुवनंतपुरम के पेरूरकाडा पुलिस क्लब में उनसे 23 जुलाई को शिवशंकर से पांच घंटे तक पूछताछ की थी. इससे पहले तस्करी के सिलिसले में अधिकारी से सीमा शुल्क विभाग ने भी पूछताछ की थी.

मामले में मुख्य आरोपी स्वप्ना सुरेश के साथ संबंध होने के आरोप के बाद शिवशंकर के खिलाफ कार्रवाई की गईथी. सीमा शुल्क विभाग ने पांच जुलाई को 15 करोड़ रुपए मूल्य का 30 किलोग्राम सोना जब्त किया था.