कोच्चि: केरल में सोने की तस्करी से जुड़े मामले में राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने भारतीय प्रशासनिक सेवा के निलंबित अधिकारी एम शिवशंकर से गुरुवार को 9 घंटे तक पूछताछ की. इससे पहले जुलाई में भी उनसे दो बार पूछताछ हो चुकी है.Also Read - IAS Cadre Rules: आईएएस कैडर के नियमों में बदलाव करने जा रही केंद्र सरकार, जानें क्या होंगे नए नियम?

बता दें कि सीमाशुल्क विभाग ने गत 5 जुलाई को 15 करोड़ रुपए मूल्य का 30 किलोग्राम सोना जब्त किया था. Also Read - IAS Cadre Rules में बदलाव करने जा रही मोदी सरकार, जानें इससे क्या फर्क पड़ेगा, जिसका विरोध हो रहा है

एनआईए की टीम के सामने पूर्वाह्न 11 बजे पेश हुए शिवशंकर से मामले में गिरफ्तार एक प्रमुख आरोपी स्वप्ना सुरेश की मौजूदगी में पूछताछ हुई. शिवशंकर रात लगभग सवा आठ बजे एनआईए के पूछताछ केंद्र से रवाना हुए. Also Read - Rajasthan: देर रात 46 IAS, 37 IPS और 9 IFS अफसरों के हुए ट्रांसफर, देखें List, भष्‍टाचार के आरोपी को कम‍िश्‍नर बनाया

मुख्यमंत्री पिनरायी विजयन के प्रधान सचिव रहे शिवशंकर से एनआईए ने मामले में तीसरी बार पूछताछ की है. इससे पहले उनसे जुलाई में एनआईए के तिरुवनंतपुरम और कोच्चि कार्यालय में दो बार पूछताछ हो चुकी है.

एनआईए ने इस मामले में गैर कानूनी गतिविधि रोकथाम कानून के तहत सुरेश, सरित पीएस, संदीप नायर और फैजल फरीद सहित कई लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है.

सुरेश और सरित संयुक्त अरब अमीरात के वाणिज्य दूतावास के पूर्व कर्मचारी हैं. मामला संयुक्त अरब अमीरात के तिरुवनंतपुरम स्थित वाणिज्य दूतावास के एक अधिकारी के नाम का इस्तेमाल कर राजनयिक सामान के जरिए सोने की तस्करी की कोशिश से जुड़ा है.