कोच्चि: केरल में बहुचर्चित गोल्‍ड स्‍मगलिंग केस के मामले में गिरफ्तार मुख्‍य आरोपी स्वप्ना सुरेश और संदीप नायर को आज राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) कोर्ट में पेश करेगी. बता दें कि शनिवार को एनआईए ने सोना तस्करी मामले में मुख्य आरोपियों स्वप्ना सुरेश और संदीप नायर को बेंगलुरु से गिरफ्तार किया था. सोने की तस्‍करी के मामले में दोनों आरोपियों को एनआईए आज कोच्‍च‍ि में कोर्ट में पेश करेगी. Also Read - Flood in Kerala: भीषण त्रासदी से भगवान का घर केरल हो रहा तबाह, लगातार तीसरे साल भीषण त्रासदी की मार झेल रहा राज्य

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने तिरुवनंतपुरम अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर राजनयिक के सामान के जरिये 30 किलोग्राम सोने की तस्करी के मामले में स्वप्ना समेत चार आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है. तिरुवंतपुरम से स्वप्ना, सारिथ और संदीप नायर और एर्णाकुलम के फाजिल फरीद का नाम तस्करी मामले में आरोपियों के रूप में है. बता दें कि एनआईए समेत केंद्रीय एजेंसियों और सीमा-शुल्क विभाग ने केरल हाईकोर्ट में उसकी (स्वप्ना) अग्रिम जमानत याचिका विरोध किया था. Also Read - केरल विमान हादसा: नागर विमानन मंत्री बोले- पब्लिक की जाएगी जांच रिपोर्ट, खुद से अटकलें न लगाएं लोग | जानिए अब तक क्या हुआ

स्वप्ना सुरेश के फर्जी डिग्री प्रमाणपत्र मामले की जांच की जाएगी: सीएम विजयन
केरल के मुख्यमंत्री पिनारयी विजयन ने शनिवार को कहा कि सोना तस्करी मामले में मुख्य महिला आरोपी स्वप्ना सुरेश द्वारा एक सरकारी परियोजना में नियुक्ति हासिल करने के लिए दिए गए कथित फर्जी डिग्री प्रमाणपत्र को लेकर मिली शिकायत की जांच कराई जाएगी. विजयन ने कहा, पुलिस को शिकायत मिली है. इसकी जांच कराई जाएगी.’ विजयन ने कहा, ‘‘यह स्वाभाविक है कि एक जांच की जाएगी और पुलिस उसके लिए कदम उठाएगी.’’

30 किलोग्राम सोने की तस्करी का मामला
सनसनीखेज सोने की तस्करी मामले की दूसरी आरोपी महिला ने केरल राज्य सूचना प्रौद्योगिकी अवसंरचना लिमिटेड (केएसआईटीआईएल) के तहत यहां स्पेस पार्क में नियुक्ति हासिल करने के लिए बी कॉम का फर्जी प्रमाणपत्र कथित तौर पर सौंपा था. यह महिला उन चार आरोपियों में से एक है, जिनके खिलाफ 30 किलोग्राम सोने की तस्करी मामले में राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने मामला दर्ज किया है.