Kerala Elections: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने केरल में ‘‘लव जिहाद’’ को रोकने की खातिर कथित तौर पर कोई सकारात्मक कदम नहीं उठाने के लिए रविवार को राज्य की वाम मोर्चा सरकार की आलोचना की. उन्होंने यहां दावा किया कि केरल उच्च न्यायालय ने 2009 में लव जिहाद के खिलाफ टिप्पणी की थी, लेकिन राज्य सरकार ने इसे रोकने के लिए अभी तक कुछ नहीं किया है.Also Read - उत्तर प्रदेश की 'जनता का मूड' Opinion Poll: जानें कब और कहां देखें LIVE Streaming

राज्य विधानसभा चुनाव से पहले योगी ने भाजपा की राज्य इकाई के अध्यक्ष के. सुरेंद्रन के नेतृत्व में राज्य व्यापी ‘‘विजय यात्रा’’ का उद्घाटन करने के बाद कहा कि उनकी (उत्तर प्रदेश) सरकार ने ‘‘लव जिहाद’’ और जबरन धर्मांतरण पर रोक लगाने के लिए कानून बनाया. Also Read - UP Assembly Polls 2022: भाजपा ने जारी की स्टार प्रचारकों की लिस्ट, पीएम मोदी और अमित शाह सहित 30 नाम शामिल | देखिए

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने आरोप लगाया, ‘‘2009 में केरल उच्च न्यायालय ने कहा था कि लव जिहाद से केरल इस्लामिक राज्य बन जाएगा. इसके बावजूद राज्य सरकार सो रही है.’’ ‘‘लव जिहाद’’ शब्द का इस्तेमाल दक्षिणपंथी संगठन मुस्लिमों द्वारा प्रेम के जाल में फंसाकर हिंदू लड़कियों का धर्मांतरण कराने के कथित अभियान के संदर्भ में करते हैं. Also Read - Kerala Lottery News: केरल के पेंटर को लॉटरी के टिकट ने बना दिया करोड़पति, जीत गए 12 करोड़ की राशि

भाजपा शासित उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश ने हाल में धार्मिक स्वतंत्रता कानून बनाया ताकि शादी या अन्य छलावा के माध्यम से धर्मांतरण को रोका जा सके. कोविड-19 संक्रमण के मामले बढ़ने के लिए भी आदित्यनाथ ने केरल सरकार की आलोचना की और दावा किया कि उनका राज्य प्रभावी तरीके से महामारी से निपटा है.

राज्य के 14 जिलों के सभी बड़े विधानसभा क्षेत्रों के लिए शुरू किए गए 15 दिवसीय विजय यात्रा को भगवा दल के आधिकारिक प्रचार अभियान के तौर पर देखा जा रहा है.

(इनपुट भाषा)