कोच्चि: टोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympic) में कांस्य पदक जीतने वाली भारतीय हॉकी टीम के गोलकीपर पीआर श्रीजेश (PR Sreejesh) का केरल में शानदार स्वागत किया गया. केरल सरकार द्वारा आयोजित स्वागत स्वागत समारोह आयोजित किया गया. केरल सरकार ने गोलकीपर श्रीजेश को दो करोड़ रुपए दिए. इसके साथ ही श्रीजेश को केरल सरकार ने खेल विभाग में जॉइंट डायरेक्टर बनाया गया है. श्रीजेश पहले पब्लिक एजुकेशन डिपार्टमेंट में डिप्टी डायरेक्टर (खेल) थे. स्वागत समारोह में खेल मंत्री वी अब्दुरहिमान, राज्य खेल परिषद के अध्यक्ष मर्सी कुट्टन, विधायक पीवी श्रीनिजान और जिला कलेक्टर जफर मलिक सहित अन्य लोग शामिल थे.Also Read - पाकिस्तानी खिलाड़ी Arshad Nadeem को ट्रोल करने वालों पर भड़के Neeraj Chopra, वीडियो में दिया करारा जवाब

श्रीजेश का परिवार, उनके माता-पिता, पी वी रवीन्द्रन और उषाकुमारी, पत्नी पीके अनीश्य और बच्चे अनुश्री और श्रीअंश घर में उनका स्वागत करने के लिए मौजूद थे. श्रीजेश ने घर पहुंचते हुए अपना पदक पिता के गले में डाल दिया. इसके बाद उन्हें मंत्री के साथ एक खुली जीप में किझाक्कम्बलम स्थित उनके आवास पर ले जाया गया. अपने गृहनगर में एक स्वागत कार्यक्रम के बाद, श्रीजेश ने मीडिया से कहा कि वह वास्तव में बहुत खुश है कि उनका इतना भव्य स्वागत किया गया. उन्होंने कहा, ‘‘यह पदक सभी के लिए ओणम का उपहार है.’’ उन्होंने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि इस उपलब्धि के बाद अधिक अभिभावक अपने बच्चों को हॉकी खेलने की अनुमति देंगे. Also Read - झारखंड सरकार ने हॉकी खिलाड़ी सलीमा और निक्की प्रधान पर की तोहफों की बारिश, 50-50 लाख के चेक दिए, घर भी मिलेगा

Also Read - भारतीय गोलकीपर श्रीजेश को 1 करोड़ रुपये नकद इनाम देगा UAE

राज्य सरकार से पुरस्कार के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, ‘‘ एक खिलाड़ी के रूप में, एक हॉकी खिलाड़ी के तौर पर, मेरी सबसे बड़ी महत्वाकांक्षा ओलंपिक में पदक जीतने की थी और वह मुझे मिल गया. मुझे विश्वास है कि राज्य सरकार हमारी जीत और पदक को मान्यता देगी.’’ भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने 41 साल बाद ओलंपिक पदक जीतकर इतिहास रचा है. जर्मनी के खिलाफ कांस्य पदक के प्लेऑफ मुकाबले के आखिरी क्षणों में श्रीजेश ने पेनल्टी कॉर्नर पर शानदार बचाव कर टीम को 5-4 से जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई थी.