Kerala Local Body Election Results 2020 : केरल में विधानसभा चुनाव (Assembly Election) से पहले 1,200 स्थानीय निकायों में 21,893 वार्डों के लिए हुए चुनाव में सीपीएम (CPM) के नेतृत्व वाली एलडीएफ (LDF) ने शानदार जीत दर्ज किया है. जबकि दूसरे नंबर पर कांग्रेस के नेतृत्व वाली यूडीएफ (UDF) रही है. चुनाव में सफलता पर मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने ट्वीट कर कहा कि यह केरल को प्यार करने वाले लोगों का उनलोगों को संदेश है जो इसे नष्ट करने की कोशिश कर रहे हैं. Also Read - Kerala Local Body Polls: केरल में स्थानीय निकाय के चुनावों की तारीख घोषित, ये रहें वोटिंग के डेट

बुधवार को आए चुनाव परिणाम में 86 नगरपालिकाओं में से, यूडीएफ ने 45 सीटें जीती हैं, जबकि लेफ्ट ने 35 सीटों पर जीत दर्ज की. भाजपा के नेतृत्व वाले एनडीए ने दो सीटें जीती हैं. केरल में कांग्रेस का निराशाजनक प्रदर्शन रहा है, अगले साल यहां विधानसभा चुनाव होने है. Also Read - Covid-19 का खौफ: केरल में 3 से 31 अक्टूबर तक कर्फ्यू का आदेश, सरकार ने दी कड़ी चेतावनी

चुनाव परिणाम पर मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने ट्वीट किया है…. Also Read - केरल बाढ़: जल स्तर घटने के साथ सफाई का मुश्किल काम शुरू, सीएम ने लिया राहत शिविरों का जायजा

बता दें कि कोरोना प्रोटोकॉल की वजह से राज्य चुनाव आयोग द्वारा मतगणना के लिए 244 केंद्र बनाए गए थे. राज्य निर्वाचन आयुक्त वी. भास्करन ने कहा कि विशेष मतपत्रों सहित डाक मतों की गिनती पहले और EVM मतों की गिनती बाद में की गयी. राज्य में मलप्पुरम जिले में सबसे ज्यादा 8,387 उम्मीदवार और वायनाड में सबसे कम 1857 उम्मीदवार मैदान में थे. तीन चरण में 8 दिसंबर से चुनाव शुरू हुआ था.

बता दें कि अगले साल विधानसभा चुनाव होना है. ऐसे में इस स्थानीय चुनाव को काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है. इस चुनाव परिणाम से राजनीतिक दल अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए जमीन तैयार कर सकेंगे. तभी इस चुनाव में कोविड-19 संबंधी तमाम बंदिशों और निर्देशों के बावजूद प्रचार अभियान के दौरान स्थानीय मुद्दों से ज्यादा राष्ट्रीय मुद्दों को उठाया गया.