नई दिल्ली: केरल की 26 साल की हदिया द्वारा इस्लाम कबूल करने और मुस्लिम प्रेमी से शादी करने का विरोध करने वाले हदिया के पिता केएम अशोकन भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए हैं. उन्होंने बीजेपी की सदस्यता ले ली है. केएम अशोकन की बेटी अखिला के हदिया बन जाने का मामला देश भर में चर्चा का विषय रहा था. हदिया के पिता के साथ ही बीजेपी ने भी इस मामले को जोर-शोर से उठाते हुए लव जिहाद बताया था. Also Read - केरल, महाराष्‍ट्र, दिल्‍ली राजस्‍थान समेत देश के कई राज्‍यों में कोरोना वायरस का प्रचंड प्रकोप, पढ़ेंं डिटेल

Also Read - बीजेपी में हिम्मत है तो मुझे अरेस्ट करे, जेल से भी TMC को जीत दिलाऊंगी: ममता बनर्जी

केरल लव जिहाद: हदिया ने कहा, मुस्लिम हूं, मुस्लिम ही रहना चाहती हूं Also Read - मध्य प्रदेश की धरती पर 'लव जिहाद' नहीं होने दूंगा, ये देश तोड़ने का षड़यंत्र: शिवराज चौहान

केरल के रहने वाले केएम अशोकन की बेटी ने 2016 में इस्लाम धर्म अपनाते हुए अपना नाम हदिया कर लिया था. 26 साल की हदिया ने अपने मुस्लिम प्रेमी से शादी कर ली थी. हदिया के पिता केएम अशोकन ने इसे लव जिहाद बताते हुए विरोध किया था. उन्होंने कोर्ट में मामला दायर कर कहा था कि उनकी बेटी लव जिहाद का शिकार हुई है. केरल हाईकोर्ट ने हदिया की शादी निरस्त करने का आदेश दिया था.

इसके बाद ये मामला सुर्खियों में आ गया था. हदिया के पति शफीन जहां ने उसकी शादी अमान्य करार देने और उसकी पत्नी को माता-पिता के घर भेजने के उच्च न्यायालय के फैसले को शीर्ष अदालत में चुनौती दी. शीर्ष अदालत ने पिछले साल 27 नवंबर को हदिया को उसके माता-पिता की निगरानी से मुक्त करते हुए उसे कॉलेज में अपनी पढ़ाई पूरी करने के लिये भेज दिया था. हालांकि, हदिया ने कहा था कि वह अपने पति के साथ ही रहना चाहती है.

लव जिहाद: हदिया के पिता ने कहा, अपने परिवार में आतंकवादी नहीं चाहता

शीर्ष अदालत ने पिछले साल अगस्त में राष्ट्रीय जांच एजेंसी को हदिया के धर्म परिवर्तन के मामले की जांच का निर्देश दिया था क्योंकि एजेंसी ने दावा किया था कि केरल में इस तरह का एक ‘तरीका’ सामने आ रहा है. वहीं, सुप्रीम कोर्ट द्वारा शफीन जहां से शादी को बरकरार रखने के फैसले के बाद हदिया ने अपने बयान में कहा था, ‘संविधान अपना धर्म चुनने की पूरी अजादी देता है, जो हर नागरिक का मौलिक अधिकार है और यह सब मेरे इस्लाम कबूलने की वजह से हुआ.’