त्रिशूर: केरल में एक स्थानीय मंदिर सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय बना हुआ है. मंदिर के मुख्य परिसर के बाहर ‘केवल ब्राह्मणों के लिए शौचालय’ लिखी तस्वीर ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर वायरल होने के बाद प्रबंधन ने साइनबोर्ड हटा दिया है. कुट्टुमुक्कू महादेव मंदिर में तीन शौचालयों के साइनबोर्ड की तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हुई जिसमें ‘पुरुष’, ‘महिला’ और ‘ब्राह्मण’ लिखा हुआ है. सोशल मीडिया पर लोगों ने इसे अनैतिक कार्य बताया जिससे प्रगतिशील राज्य का नाम खराब होगा. Also Read - Coronavirus Delhi: तबलीगी जमात में भाग लेने वाले 300 संदिग्धों की केरल में हुई पहचान

सरकार के 100 दिन पूरे होने पर अयोध्या जाएंगे महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्घव ठाकरे, कोरोना वायरस के चलते नहीं करेंगे सरयू की आरती Also Read - Coronavirus: कोरोना की जंग में जीता केरल का बुजुर्ग दंपत्ति, 93 और 88 साल की उम्र में दी मौत को मात

बहरहाल मंदिर के अधिकारियों ने कहा कि शौचालय मुख्य परिसर के बाहर स्थित हैं और साइनबोर्ड उनके संज्ञान में अब आया है. मंदिर समिति के अधिकारी कन्नन ने कहा कि बोर्ड करीब दो दशक पहले लगा और इसके खिलाफ अभी तक किसी ने शिकायत नहीं की. Also Read - अपने घरों को लौटने के लिए बेताब! दिल्ली के बाद अब केरल में सड़कों पर जमा हुए प्रवासी श्रमिक

उन्होंने एजेंसी से कहा, ‘‘उस शौचालय का इस्तेमाल पुजारी और मंदिर के अन्य कर्मचारी करते थे. हमने उस बोर्ड को भी नहीं देखा… हमें जैसे ही इसके बारे में पता चला, हमने इसे हटा दिया और ‘केवल कर्मचारियों के लिए’ बोर्ड लगा दिया. कन्नन ने कहा कि मंदिर और इसका प्रबंधन किसी भी तरह की अनैतिक प्रथा के खिलाफ है.