पलक्कड़: केरल के पलक्कड़ जिले में अत्तापैडी के पास खोज अभियान के दौरान एक महिला समेत तीन संदिग्ध माओवादियों को सोमवार को मार गिराया गया. पुलिस के एक शीर्ष अधिकारी ने एजेंसी से कहा कि ‘थंडरबोल्ट’ दस्ते के कर्मियों पर माओवादियों ने गोली चलाई जिसका दस्ते ने जवाब दिया. अधिकारी ने बताया कि खोज दल पलक्कड़ जिले के घने जंगल के अंदर गश्त कर रहा था. तभी माओवादियों ने उन पर गोलीबारी की.

बिहार में साध्वी के साथ गैंगरेप, पीड़िता ने 4 के खिलाफ दर्ज कराई FIR

अधिकारी ने बताया कि शुरुआती रिपोर्टों के अनुसार, अभियान में एक महिला समेत तीन माओवादियों को मार गिराया गया है. सूत्रों ने बताया कि घटनास्थल के लिए बम निष्क्रिय दस्ता और शीर्ष पुलिस अधिकारी रवाना हुए हैं. इलाके में माओवादियों की मौजूदगी की सूचना मिली थी जिसके बाद विशेष टीम क्षेत्र में खोज अभियान चला रही थी. बहरहाल, पलक्कड़ से कांग्रेस सांसद श्रीकंदन ने कहा कि मुख्यमंत्री को घटना का समय स्पष्ट करना चाहिए और यह भी बताना चाहिए कि मुठभेड़ की वजह क्या थी?

उन्होंने कहा, ‘‘ जब पूरा राज्य वालयार में दो बहनों की मौत के बारे में चर्चा कर रहा है. ऐसे में हम जानना चाहेंगे कि जो मरे हैं उन्होंने ऐसा क्या किया था जिसके चलते पुलिस उन पर गोली चलाने के लिए बाध्य हुयी . हमें यह भी शक है कि क्या यह भी वायनाड की तरह संदिग्ध साजिश है.’ इस साल मार्च में, वायनाड के एक रिजॉर्ट में पुलिस के साथ मुठभेड़ में संदिग्ध माओवादी नेता सीपी जलील को मार गिराया गया था.