श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने रविवार को कहा कि आतंकियों को हत्या ही करनी है तो वे निर्दोष लोगों के बजाए कश्मीर को लूटने वाले भ्रष्ट लोगों की हत्या क्यों नहीं करते हैं. कारगिल में आयोजित कारगिल-लद्दाख पर्यटन महोत्सव-2019 का उद्घाटन करते हुए राज्यपाल ने कहा कि आप (आतंकियों) एसपीओ और पीएसओ समेत निर्दोष लोगों की हत्या क्यों करते हो? आपको इससे क्या लाभ मिलेगा? Also Read - जम्मू कश्मीर: 2020 में 87.13 प्रतिशत कम हुईं पत्थरबाजी की घटनाएं, DGP ने बताई वजह

  Also Read - जम्मू-कश्मीर डीजीपी ने दी जानकारी-वर्ष 2020 घुसपैठियों और आतंकियों के लिए काल साबित हुआ, 225 आतंकवादी हुए ढेर

उन्होंने आगे कहा कि अगर आपको हत्या ही करनी है तो आप देश और कश्मीर को लंबे समय से लूटने वाले भ्रष्टाचारियों की हत्या क्यों नहीं करते? मलिक ने कहा कि आतंकियों में भारत सरकार की शक्ति को समाप्त करने की ताकत नहीं है. उन्होंने कहा कि आपका संघर्ष बेकार है. आप बेकार में अपनी जानें गंवा रहे हैं. उन्होंने कहा कि हमारा अनुमान है कि इस समय 125 विदेशी आतंकी समेत 250 आतंकी मौजूद हैं. मुठभेड़ों में विदेशी आतंकियों को मारने में दो दिन का समय लगता है जबकि स्थानीय आतंकियों को सिर्फ दो घंटे का वक्त लगता है.

एलटीटीई कभी दुनिया में सबसे ताकतवर आतंकी संगठन था. आज वह कहां है? उन्होंने कश्मीरी में जमीनी हालात बदलने को लेकर संतोष जाहिर करते हुए कहा कि लोग अब शांति की बात करते हैं. मलिक ने गृहमंत्री अमित शाह के घाटी के हालिया दौरे का जिक्र करते हुए कहा, “पिछले 30 साल में पहली बार देश के गृहमंत्री के कश्मीर के दौरे के समय कोई घटना नहीं हुई.